संस, हीरोडीह: झारखंड राज्य सरकारी पेंशनर्स एसोसिएशन की बैठक रविवार को जमुआ प्रखंड के पेंशनर्स कार्यालय पांडेयडीह के भंडारो मोड़ पर हुई। अध्यक्षता सुकदेव पांडेय ने की। इसमें मुख्य रूप से नई पेंशन योजना को समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना सभी राज्य कर्मियों एवं शिक्षकों के लिए लागू करने, सभी दैनिक वेतन भोगी (श्रम-पुस्त) अनुबंध, मानदेय एवं आउटसोर्सिंग पर नियोजन की व्यवस्था समाप्त करते हुए स्थायी नियोजन की व्यवस्था लागू करने, बैंकों की लापरवाही समेत अन्य मांगों पर चर्चा हुई।

संघ के प्रदेश महामंत्री रघुनंदन प्रसाद विश्वकर्मा ने कहा कि आजादी के कई वर्ष बाद से राजनीतिज्ञों ने पूर्व की भावनाओं में अमूलचूल परिवर्तन करते हुए राजनीति को व्यापार बना लिया है। जाति व धर्म के नाम पर पैसे का दुरूपयोग करते हुए सत्ता हासिल की जा रही है। कहा कि ये पांच वर्ष के लिए निर्वाचित होकर एक दिन कार्य करने पर पेंशन प्राप्त करते हैं, लेकिन सरकारी कर्मचारियों को नई पेंशन योजना का झुनझुना थमा दिया गया है। शिक्षित बेरोजगारों को संविदा पर नियुक्त कर उन्हें ठगने का काम किया जा रहा है। नई पेंशन स्कीम से कर्मचारियों का भला होने वाला नहीं है। ऐसे में जो पुरानी पेंशन स्कीम है, सरकार उसे यथाशीघ्र लागू करे।

मौके पर शारदा पांडेय, रामेश्वर मोदी, श्याम सुदंर प्रसाद, सुखदेव पांडेय, गिरिजा तिवारी, नईमुदीन अंसारी, दिनेश्वर पांडेय, संतोषी चौधरी, शैलजा पांडेय, जागेश्वर लाल, राम नारायण पांडेय, मुरली प्रसाद कुशवाहा, प्रयाग राय, भिखारी पंडित, रामचन्द्र राय, गोविद पांडेय, कैलाश राय, दशरथ पांडेय आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस