संवाद सहयोगी, गिरिडीह : नगर निगम क्षेत्र में सफाई का जिम्मा संभालने वाली कंपनी आकांक्षा वेस्ट लिमिटेड और कर्मियों का विवाद खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस विवाद में शहर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई है। पिछले छह महीनों की बात करें तो लगातार विवाद हो ही रहा है। हमेशा कंपनी और कर्मियों के बीच समझौता होता है। समझौते के बाद दो से तीन दिनों तक कचरे का उठाव होता है। उसके बाद पुन: हड़ताल हो जाती है। इस विवाद में शहरवासी गंदगी में जीने को विवश हैं। पिछले दिनों जहां विधायक ने बैठक कर कंपनी के क्रियाकलापों में सुधार लाने का अल्टीमेटम दिया था। इसके बावजूद मामला जस का तस बना हुआ है। कर्मी पिछले कई दिनों से हड़ताल पर हैं और शहर में गंदगी का अंबार लगा हुआ है।

शुक्रवार को इस मसले को लेकर भाजपा का एक शिष्टमंडल नगर निगम कार्यालय पहुंचा और उप नगर आयुक्त की गैरमौजूदगी में सिटी मैनेजर को आवेदन देकर शहर में फैली गंदगी की समस्या से अवगत करवाया। साथ ही वैकल्पिक व्यवस्था कर सोमवार तक शहर में साफ सफाई कराए जाने की मांग की। कहा कि सफाई व्यवस्था नहीं होने पर लोकतांत्रिक तरीके से विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। शिष्टमंडल में भाजपा नेता चुन्नूकांत, संदीप डंगाइच, नवीन सिन्हा, शिवम आजाद, मीरा कुमारी समेत अन्य लोग शामिल थे।

Edited By: Jagran