गिरिडीह : साइबर अपराध में गिरफ्तार फिनो बैंक के सीएसपी संचालक समेत चार के विरुद्ध साइबर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिन पर प्राथमिकी दर्ज की गई है उनमें गिरफ्तार आरोपित गांडेय थाना क्षेत्र के पहरीडीह निवासी सह सीएसपी संचालक शराफत अंसारी के अलावा फरार आरोपित पहरीडीह निवासी सज्जाद अंसारी, मंडरकंडा निवासी इकबाल अंसारी व देवघर जिले के बुढ़ई थाना क्षेत्र के झिलुआ निवासी हुसैन अंसारी शामिल हैं।

गिरफ्तार आरोपित शराफत के पास से पुलिस ने 49 हजार पांच सौ रुपये नकद के अलावा एचडीएफसी बैंक का एक एटीएम, एक क्रेडिट कार्ड, यूनियन बैंक का दो एटीएम कार्ड, दो मोबाइल व एक महंगी केटीएम बाइक जब्त की है। प्राथमिकी दर्ज करने क बाद आरोपित को न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष पेश किया गया जहां से न्यायालय के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया। प्राथमिकी गांडेय थाना में पदस्थापित प्रशिक्षु पुलिस अवर निरीक्षक अभिषेक कुमार के आवेदन पर दर्ज की गई है।

प्राथमिकी में कहा है कि साइबर अपराध की घटना को अंजाम देने में संलिप्त पहरीडीह के शराफत अंसारी के केटीएम बाइक से धोबियाडीह मोड़ से गुजरने की गुप्त सूचना मिली। इसी सूचना के आधार पर दलबल के साथ धोबिया मोड़ पहुंचकर वे गश्त कर रहे थे। तभी एक केटीएम बाइक से आते हुए एक युवक पर नजर पड़ी। जैसे ही वह पास आया तो उसे रुकने का इशारा किया गया। उसने हड़बड़ाकर बाइक घुमाते हुए वहां से भागने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस के जवानों ने उसे धर दबोचा। पूछताछ के क्रम में उसने साइबर अपराध की घटना को अंजाम देने में संलिप्त रहने की बात स्वीकार की।

साइबर अपराध करनेवालों का पैसा अपने व अपने परिचित के खातों में मंगाकर इस धंधे में शामिल लोगों को निकालकर देता है। फिनो बैंक का सीएसपी मेरे नाम से है और इसी की आड़ में साइबर अपराधियों से मिलकर पैसे की लेन देन करता है। ठगी की राशि में दस प्रतिशत का हिस्सा मिलता है। पुलिस की टीम अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी को छापेमारी करने में जुटी है।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट