जागरण संवाददता, गिरिडीह: गिरिडीह के तेलोडीह में मंगलवार को शरारती तत्वों की कारस्तानी से दो समुदायों के बीच तनाव उत्पन्‍न हो गया। हालांकि पुलिस प्रशासन की सक्रियता से मामले को शांत करा लिया गया। घटना के बाद तेलोडीह को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। मामले में पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है।

बताया जाता है कि शरारती तत्वों ने धर्म विशेष के लोगों की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने का प्रयास किया। मस्जिद में एक युवक को गलत हरकत (लघुशंका) करते नमाज पढ़ने गए लोगों ने देख लिया। इसे देख लोग आक्रोशित हो गए। देखते ही देखते माहौल गरम हो गया। दोनों समुदाय के लोग आमने-सामने हो गए।

[गिरिडीह के तेलोडीह पहुंचे दाएं से डीसी नमन प्रियेश लकड़ा, एसपी अमित रेणु और विधायक सुदिव्य कुमार सोनू]

घटना की सूचना मिलने पर जिले के उपायुक्त नमन प्रियेश लकड़ा, एसपी अमित रेणु, गिरिडीह विधायक सुदिव्य कुमार सोनू, गांडेय विधायक डाॅक्‍टर सरफराज अहमद, एसडीपीओ अनिल सिंह सहित अन्य पुलिस-प्रशासन के अन्‍य पदाधिकारी पहुंचे। पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने लोगों को समझा-बुझाकर कर शांत किया और सौहार्द बनाए रखने की अपील की। कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। किसी की भी धार्मिक भावना से खिलवाड़ करने की छूट किसी को भी नहीं दी जाएगी।

चार लोगों को हिरासत में लिया

पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को हिरासत में लिया है। तीन अन्‍य लोगों पर आरोपित का साथ देने का आरोप है। हालांकि हिरासत में लिये गए लोगों के नाम का खुलासा पुलिस ने अभी नहीं किया है। स्थानीय मुखिया सबिर आलम ने बताया कि किसी ने मस्जिद में गलत काम कर आपसी सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया था, लेकिन अभी मामला शांत हो गया है।

Edited By: Deepak Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट