गिरिडीह : कोरोना आपदा को देखते हुए गरीबों को निश्शुल्क भोजन देने की व्यवस्था जिला प्रशासन कर रहा है। इसके लिए शहर में आधा दर्जन नए दाल-भात-खिचड़ी केंद्र शनिवार को खोले गए हैं।

डीसी राहुल कुमार सिन्हा की पहल पर यह व्यवस्था की गई है। शहर के बस स्टैंड, सुभाष पब्लिक स्कूल मोड़ मंदिर के पास, पचंबा थाना के निकट, बरवाडीह करबला के निकट, गिरिडीह कॉलेज मोड़ के निकट एवं रेलवे स्टेशन के निकट यह केंद्र खोले गए हैं।

बस स्टैंड, सुभाष पब्लिक स्कूल मोड़ एवं पचंबा थाना के निकट केंद्र का संचालन मेसर्स मां तारा ट्रेडर्स गद्दी मुहल्ला एवं बरवाडीह करबला, रेलवे स्टेशन एवं गिरिडीह कॉलेज मोड़ के पास केंद्र का संचालन मेसर्स सुमित लाल चौरसिया स्टेशन रोड लक्ष्मी मुहल्ला कर रही हैं। सभी केंद्र सुबह 9 से 10 एवं दोपहर 2 से 3 बजे तक  चल रहे हैं। केंद्र संचालकों को सैनिटाइजर एवं मास्क तथा स्वच्छता का प्रबंध करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही शारीरिक दूरी बनाए रखने का भी निर्देश दिया गया है।

एनडीसी डॉ. सुदेश कुमार ने शनिवार को कई केंद्रों में भोजन परोस कर इसका शुभारंभ किया। विदित हो कि शहर में पहले से बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, समाहरणालय, पुराना पुल,  सिहोडीह एवं बोड़ो होमगार्ड कैम्प के निकट दाल-भात केंद्र का संचालन किया जा रहा है।

-----------------------

किसी को भी भूखे रहने नहीं दिया जाएगा : उपायुक्त

उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने कहा है कि एक भी व्यक्ति को सरकार भूखे सोने नहीं देगी। शहर में कुल एक दर्जन दाल-भात केंद्रों का संचालन किया जा रहा है। शारीरिक दूरी एवं स्वच्छता का पालन करते हुए अधिक से अधिक लोगों को इन केंद्रों का लाभ उठाना चाहिए। सभी मुखियों एवं पार्षदों को आकस्मिक खाद्यान्न निधि की राशि मुहैया कराई गई है। उस राशि से खाद्यान्न खरीदकर वैसे परिवारों को भी उपलब्ध कराया जा रहा है जिनके पास राशन कार्ड नहीं है। किसी भी परिस्थिति में किसी भी परिवार को भूखे रहने की स्थिति नहीं आएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस