गिरिडीह : डीसी राहुल कुमार सिन्हा एवं एसपी सुरेंद्र कुमार झा अधिकारियों की टीम के साथ गुरुवार को शहर से लेकर गांव तक छान मारा। लॉकडाउन को देखते हुए आमलोगों से घरों में रहने की अपील की। अनावश्यक रूप से निकलेंगे तो आपके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिया कि बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति को बिना जांच कराए घर नहीं जाने दें। दोनों ने आम लोगों को आश्वस्त किया कि आवश्यक वस्तुओं की कमी नहीं होने दी जाएगी। होम डिलीवरी की व्यवस्था की गई है।

बगोदर: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन के तहत बगोदर की वस्तुस्थिति का जायजा लेने एसपी सुरेन्द्र कुमार झा और डीसी राहुल कुमार सिन्हा बगोदर पहुंचे। डीसी ने बगोदर के हरिहरधाम में बने टोलनाका में दूसरे राज्यों से आ रहे लोगों की स्वास्थ्य जांच कैंप लगाकर करने सहित कई दिशा निर्देश दिया।

बताया गया कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को लेकर आने जानेवाले वाहनों की जांच की जाए। एसपी ने नेहरु चौक पर बिकनेवाली सब्जी के विक्रेताओं को दूसरे स्थान पर सब्जी की बिक्री करने व राशन व्यवसायी को होम डिलीवरी करने का निर्देश दिया। सड़क पर अनावश्यक रुप से निकलनेवाले लोगों को स्टे होम का अनुपालन करवाने को कहा गया। मौके पर सीएस डॉ.अवधेश कुमार सिन्हा, सरिया के अनुमंडल पदाधिकारी रामकुमार मंडल, बीडीओ रविन्द्र कुमार, सीओ एके ओझा, थाना प्रभारी नवीन कुमार सिंह, एसआई अजय कुमार सिंह, एसआई वेदप्रकाश पांडेय समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

---------------------

एसपी ने डुमरी में जामतारा बैरियर का निरीक्षण किया

डुमरी: एक ओर जहां विषाणु संक्रमण से दुनिया भर के लोग जूझ रहे हैं और उनके प्राण आफत में हैं वही गांवों में आज भी कुछ ऐसे लोग हैं जो दूसरों की जान की परवाह न करते हुए नशा करने व नशे का पदार्थ बेचकर धन कमाने में लगे हैं। मामला जिले के डुमरी प्रखंड अंतर्गत कल्हाबार पंचायत के अंबाटांड मोड़ पर स्थित एक अस्थाई झोपड़ीनुमा ताड़ी, दारू एवं माड़ी की दुकान का है। वहां पिछले तीन चार दिनों से पियक्कड़ों का जमघट लग रहा है। यह दुकान अंबाटाड़ मोड़ पर स्थित है। इस दुकान में शाम को छोड़ दीजिए, दिन के उजाले में भी उपरोक्त नशीली पदार्थ बेची जाती है। तीन चार दिनों से पीनेवालों की संख्या बढ़ गई है। लोग कोरोना वायरस के प्रसार के बाद मुंबई, दिल्ली एवं अन्य दूसरे शहरों से गांव में पहुंचे हैं। ग्रामीणों में विषाणु की बीमारी का डर बना हुआ है। गांव के लोगों ने प्रशासन से इस पर रोक लगाने की मांग की है।

डीसी राहुल कुमार सिन्हा एवं एसपी सुरेन्द्र झा ने जामतारा बैरियर सहित विभिन्न बैरियरों का निरीक्षण कर वहां तैनात कर्मियों को आवश्यक सेवाओं के वाहनों एवं आवश्यक सामग्री की खरीदारी करने जानेवाले लोगों को नहीं रोकने का निर्देश दिया।

--------

डीसी ने सरिया में स्वास्थ्यकर्मियों को दिया कई निर्देश

सरिया: उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा, आरक्षी अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा तथा सिविल सर्जन डॉ. ए के सिन्हा गुरुवार की शाम लगभग 5:30 बजे प्राथमिक उप स्वास्थ्य केंद्र सरिया पहुंचे। उन्होंने ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक डॉ. ललन कुमार व अन्य चिकित्साकर्मियों को कई निर्देश दिए। कहा कि प्रदेश से आए युवकों की स्वास्थ्य जांच तथा अन्य लोगों की जांच को लेकर सरिया थाना के पास शुक्रवार से कैंप लगाया जाए। इसके लिए साधारण थर्मामीटर का उपयोग करने की बात कही गई।

कोविड-19 मोहर उपलब्ध कराया गया। कहा गया कि जिस व्यक्ति के शरीर में बुखार प्रतीत हो उसके हाथ में मोहर लगाकर एच क्यू लिख दिया जाए। उसे सलाह दी जाए कि उक्त व्यक्ति 14 दिनों तक अपने घर के अंदर रहे व किसी से स्पर्श ना करें। जिसे बुखार नहीं है उसकी कनिष्ठ उंगली में अमिट स्याही लगा दी जाए। उन्होंने चिकित्साकर्मियों के कार्य के प्रति संतोष जाहिर किया। स्थानीय लोगों ने प्रशासनिक अधिकारियों से मांग की है कि लेजर स्कैनिग द्वारा स्वास्थ्य जांच करवाने की व्यवस्था की जाए। सरिया में 2 दिन पूर्व यह व्यवस्था थी।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बगोदर ले जाया गया। इससे स्थानीय लोगों में आक्रोश है। इसके पूर्व उपायुक्त व अन्य अधिकारी अनूप कुमार तर्वे की पीडीएस दुकान भी गए। वहां उपभोक्ताओं के बीच राशन वितरित किया जा रहा था। उन्होंने लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि वह आवश्यक वस्तु के लिए दूरी बनाकर राशन लें। घर से बाहर नहीं निकलने को कहा।

मौके पर डॉ. ललन कुमार, फॉर्मासिस्ट निखत परवीन, मंजू कुमारी, एएनएम सुनीता कुमारी, कंचन कुमारी, एंबुलेंस चालक मजहर अंसारी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस