गिरिडीह : कोरोना वायरस से बचाव के लिए मंगलवार को गायत्री शक्ति पीठ गिरिडीह में विशेष गायत्री महायज्ञ का आयोजन किया गया। लोगों से कोरोना वायरस से नहीं डरने की अपील की गई।

यज्ञशाला में 80 प्रकार की जड़ी-बूटियों, घी एवं गुड़ से आहुति प्रदान की गई। उपस्थित लोगों से कहा गया कि कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है। आयोजक अखिल विश्व गायत्री परिवार गिरिडीह के सदस्यों ने बताया कि घर-घर में गायत्री महायज्ञ एवं गायत्री साधना करने का निवेदन किया जा रहा है। दावा किया कि गायत्री की साधना एवं यज्ञ की ऊर्जा से कोरोना, प्लेग, डेंगू, मलेरिया जैसी कई बीमारियों का प्रसार धीमा होता है। जिनके घरों में यज्ञ की व्यवस्था नहीं है उन्हें गायत्री शक्तिपीठ गिरिडीह में प्रतिदिन सुबह 8-10 बजे तक चलने वाले गायत्री महायज्ञ में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया। घर-घर में गायत्री महायज्ञ कराने के लिए गायत्री शक्तिपीठ से संपर्क करने की अपील की गई। कहा कि भारतीय ऋषियों के इस महाविज्ञान का लाभ हर व्यक्ति प्राप्त कर सकता है। एक साल से अखिल विश्व गायत्री परिवार घर-घर में गायत्री हवन यज्ञ एवं गायत्री महामंत्र की साधना निश्शुल्क करा रहा है। मौके पर कामेश्वर सिंह, हरेंद्र प्रसाद चौधरी, अनिल चौहान, जय प्रकाश राम, भागीरथ प्रसाद सिंह, सहदेव प्रसाद कुशवाहा, प्रकाश मंडल, जितेंद्र शर्मा, पूनम बरनवाल, दयानंद प्रसाद, उर्मिला देवी, प्रियंवदा चौधरी, निर्मला देवी आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस