गढ़वा : भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में जिले में संयुक्त विपक्ष द्वारा सोमवार को समाहरणालय पर धरना दिया जाएगा। उक्त बातें कांग्रेस, झामुमो, राजद, जेवीएम आदि दलों के जिलाध्यक्षों ने संयुक्त रूप से पत्रकार वार्ता आयोजित कर रविवार को कही। कांग्रेस जिलाध्यक्ष अर¨वद कुमार तूफानी ने कहा कि सरकार भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल लाकर गरीबों की जमीन हड़पकर कारपोरेट एवं औद्योगिक घरानों के हाथ बेचना चाहती है। सभी विपक्षी दलों के लोग इसका पूरजोर विरोध एकजुट होकर कर रहे हैं। आगे भी हमारा आंदोलन जारी रहेगा। आगामी 5 जुलाई को इसके विरेाध में चक्का जाम करेंगे। झामुमो जिलाध्यक्ष तनवीर आलम खान ने कहा कि सरकार इस बिल को वापस लें। अन्यथा हम सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन करेंगे। इस आंदोलन में जनता का साथ मिल रहा है तथा विभिन्न दलों के लोग इसका विरोध कर रहें हैं। यदि इसे वापस नहीं लिया जाता तो हम भाजपा सरकार की ईंट से ईंट बजा देंगे। राजद जिलाध्यक्ष जमीरूदीन अंसारी ने कहा कि सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए तरह तरह के कानून ला रही है तथा जनता को भटकाना चाहती है। हम उसके इस मकसद को पूरा नहीं होने देंगे। भाजपा के लोग स्कूल, कालेज, अस्पताल आदि के निर्माण के लिए इस बिल को जरूरी बता रहें हैं तो क्या पहले इन संस्थानों का निर्माण नहीं हो रहा था। झाविमो जिलाध्यक्ष सुरज कुमार गुप्ता ने कहा कि सरकार भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल लाकर गरीबों की जमीन हड़पना चाहती है। सरकार का इरादा राज्य की भूमि पर कब्जा जमाकर इन्हें औद्योगिक व कारपोरेट घरानों के हाथ औने पौने दाम पर बेचना है। इससे राज्य का भला नहीं होने वाला। यह सरकार गरीब विरेाधी है। पत्रकार वार्ता में अलख निरंजन चौबे, कमर सफदर, सूर्य नारायण यादव, मनोज ठाकुर आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस