गढ़वा: सदर प्रखंड कार्यालय परिसर में बुधवार को प्रखंड प्रमुख तेतरी देवी सहित कई मुखिया व पंचायत समिति सदस्यों ने कृषि चौपाल का बहिष्कार किया। इससे प्रखंडस्तरीय तीन दिवसीय कृषि चौपाल के प्रथम दिन कोई कार्यक्रम नहीं हो सका। प्रखंड प्रमुख तेतरी देवी सहित अन्य जनप्रतिनिधियों का आरोप था कि कृषि चौपाल का आयोजन 20 से 22 जून तक आयोजित किया जाना है। ¨कतु इसमें प्रखंड के किसानों को सूचना नहीं दी गई। इस कारण चौपाल में किसान नहीं आ सके। पंचायत सेवक, जनसेवक आदि बैठे हुए थे। प्रमुख ने आरोप लगाया कि चौपाल को लेकर व्यापक स्तर से प्रचार प्रसार कर किसानों को बुलाया जाना चाहिए। ¨कतु यहां खानापूर्ति की जा रही है। जब किसान ही नहीं शामिल होंगे तो फायदा क्या होगा। उन्होंने कहा कि प्रखंड के किसानों को बीज वितरण का लाभ नहीं मिल रहा है। वहीं उन्हें भी बीज वितरण की कोई जानकारी नहीं दी जाती है। प्रमुख ने कहा कि जिले से ही बीज वितरण की खानापूर्ति कर दी जा रही है। इसका खामियाजा प्रखंड के किसान भुगत रहे हैं। उन्होंने पूरे मामले के लिए जिला कृषि पदाधिकारी को जिम्मेवार बताते हुए कहा कि जब मनमानी से कार्य करना ही है तो जन प्रतिनिधि को ऐसे कार्यक्रमों में बुलाने का क्या मतलब रह जाता है। मौके प्रखंड 20 सूत्री अध्यक्ष रामसरीख चंद्रा, विधायक प्रतिनिधि मुरली श्याम तिवारी, मुखिया देवराज उपाध्याय, बीडीसी राजेश्वर बैठा, बालजी चौहान, संजय चौधरी, आशा देवी, सीमा देवी, क्यास राम, अरुण तिवारी, राकेश दूबे, मुखिया प्रतिनिधि बदरुद्दीन, सीताराम चौधरी, कृषक मित्र विनोद तिवारी सहित कई लोग मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस