गढ़वा: विगत 20 अगस्त से रंका रोड स्थित अपने आवास से गायब हुई स्वयंसेवी संगठन दक्ष फाउंडेशन की संचालिका प्रिया ¨सह 28 वर्ष का शव सोमवार की रात में रांची से पोस्टमार्टम के बाद गढ़वा पहुंचा। शव को पहुंचते ही प्रिया के घर में कोहराम मच गया। मालूम हो कि 30 अगस्त को पलामू जिले के विश्रामपुर थाना अन्तर्गत नौगढ़ा ओपी क्षेत्र के अमवा गांव में स्थित बरदेईया नाला से पुलिस प्रिया का क्षत- विक्षत शव बरामद किया था। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम व डीएनए टेस्ट के लिए पुलिस ने रांची भेज दिया गया था। प्रिया ¨सह का पैतृक घर पलामू के उंटारी थाना क्षेत्र के सेमरी गांव में है। वह अपने माता-पिता समेत पूरे परिवार के साथ गढ़वा के रंका रोड में अपने मामा सूर्यध्यान ¨सह के घर वर्षों से रह रही थी। प्रिया का शव के लिए परिजन कई दिनों से नौगढ़ा ओपी से लेकर रिम्स तक का चक्कर लगा रहे थे। आखिरकार 10 सितंबर को उन्हें प्रिया का शव सौंपा गया। जिसे लेकर परिजन सोमवार की रात करीब आठ बजे गढ़वा पहुंचे। मंगलवार की सुबह दानरो नदी में प्रिया का दाह-संस्कार किया गया। परिजनों ने शव को 13 दिनों तक रिम्स में पड़े रहने के पीछे नौगढ़ा पुलिस की उदासीनता को कारण बताया। परिजनों की मानें तो तीन दिनों तक पुलिस प्रिया के शव को लेकर पलामू से रांची दौड़भाग करती रही। प्रिया का भाई

पंकज ¨सह ने बताया कि प्रिया ¨सह 20 अगस्त की शाम अपनी दोस्त प्रियंका के साथ घर से कुछ काम आने की बात कह घर से निकली थी। जब वह रात में घर नहीं लौटी तो उसके परिजन रात में ही थाना जाकर इसकी सूचना दी। पुलिस परिजनों को यह कहकर लौटा दी कि आप सभी भी उसकी खोजबीन करें। 21 अगस्त को परिजन उपायुक्त के पास इसकी जानकारी देने गये तो उपायुक्त ने एसपी से मिलने को कहा। एसपी ने परिजन को इस संबंध में थाना में प्राथमिकी के लिए आवेदन देने को कहा। इसके बाद परिजन इस मामले में थाना में आवेदन देकर कार्रवाई का अनुरोध किया। लेकिन 10 दिनों के बाद भी पुलिस प्रिया का कोई ट्रेस नहीं ढूंढ पाई। इसी बीच विश्रामपुर थाना क्षेत्र में 30 अगस्त को युवती का शव बरामद किया गया। जिसकी पहचान प्रिया के भाई पंकज ने उसे अपनी बहन के रूप में की थी।

पक्ष

पुलिस की ओर से किसी प्रकार की लापरवाही नहीं की गई है। पोस्टमार्टम एवं डीएनए की प्रक्रिया लंबी होने के वजह से शव को परिजन को सौंपने में विलंब हुआ।

उमाकांत तिवारी, ओपी प्रभारी, नौगढ़ा,विश्रामपुर।

Posted By: Jagran