बासुकीनाथ : जरमुण्डी प्रखंड क्षेत्र के तालझारी थाना अंतर्गत पांडेश्वरनाथ मंदिर के समीप शिवनगर गांव में एक 25 वर्षीय जामुन राय की सर्पदंश से मौत हो गई। युवक को 1 सितंबर की देर रात लगभग 11 बजे करैत सांप ने डंस लिया था। इसके बाद आनन-फानन में परिजन पीड़ित युवक की चिकित्सा कराने  के लिए हॉस्पिटल ले जाने के बजाय झाड़-फूंक कराने लगे। जिससे उसकी मौत हो गई। युवक की मृत्यु होने के बाद परिजन मृत युवक को एक मंदिर में भी लेकर गए। जहां उसके जिदा होने की उम्मीद में प्रार्थना और दैवीय चमत्कार की आस पर मृतक को बुधवार की सुबह लगभग ग्यारह बजे तक मंदिर में रखा गया। जब युवक के जिदा बचने की उम्मीद सभी ओर से समाप्त हो गई। तब निराश परिजनों ने सर्पदंश से मृत जामुन राय की लाश को दफना कर  उनकी अंत्येष्टि कर दी। पांडेश्वरनाथ में एक माह के अंदर सर्पदंश की यह दूसरी घटना है। जिसमें सर्पदंश से दूसरी बार झाड़-फूंक के चक्कर में ग्रामीण युवक की मौत हो गई। 

जरमुंडी में सर्पदंश के उपचार की दवा उपलब्ध नहीं

जरमुंडी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सर्पदंश से उपचार के लिए दवा उपलब्ध नहीं है। अस्पताल सूत्रों के अनुसार संसाधनों के अभाव में सर्पदंश के रोगियों को दुमका सदर अस्पताल रेफर करना पड़ सकता है। सर्प दंश के केस में सांप के जहर की पहचान के लिए जांच करना पड़ता है। जिसकी सुविधा जरमुंडी में नहीं है। सांप की पहचान होने पर ही दवा दी जा सकती है। सर्पदंश के रोगियों को यदि सांप की पहचान ठीक-ठाक हो भी जाती है। तब भी दवा उपलब्ध नहीं रहने से यहां सर्पदंश से पीड़ित रोगियों का इलाज संभव नहीं है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप