जागरण संवाददाता दुमका:

झारखंड राज्य मनरेगा कर्मचारी संघ के आह्वान पर जिला संघ सांकेतिक हड़ताल पर है। मंगलवार को संघ के प्रमंडलीय अध्यक्ष जयदेव मुर्मू की अध्यक्षता में एक बैठक हुई। जिसमें कहा गया कि यदि एक जुलाई तक बात नहीं बनी तो सामूहिक हड़ताल पर जाने की चेतावनी दिया गया है। कहा गया है कि 29 जून से 1 जुलाई तक सांकेतिक हड़ताल का कार्यक्रम है। 1 जुलाई तक कर्मचारियों की मांग पर सरकार और विभागीय अधिकारी से सकारात्मक वार्ता नहीं होती है तो झारखंड के मनरेगा कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

मनरेगा में मजदूरी दर कम रहने के कारण मजदूरों का झुकाव कम हो गया है। कोरोना संक्रमण के दौर में कर्मियों को अधिक लक्ष्य देकर दबाव बनाया जा रहा है। जिससे मानसिक प्रताड़ना का शिकार मनरेगा कर्मी हार्ट अटैक, दुर्घटना, आत्महत्या जैसे घटना के चपेट में मजबूरन आ जाते हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस