रामगढ़ : अपनी ही सात साल की भतीजी के दुष्कर्म करने के बाद हत्या करनेवाले चचेरे चाचा को मुंबई पुलिस ने शनिवार की देर रात गिरफ्तार कर लिया। आरोपित को दुमका लाने के लिए रविवार की सुबह पुलिस पांच सदस्यीय टीम मुंबई रवाना हो गई है। सोमवार को दुमका लाने के बाद उसे जेल भेजा जाएगा। वहीं एसपी वाईएस रमेश ने गांव जाकर घटनास्थल का जायजा लिया और विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए ग्रामीणों की सराहना की।

पांच फरवरी को बालिका मेला देखने के लिए दूसरे गांव गई थी। उसके साथ उसका चचेरा चाचा मीठू कुमार भी गया था। देर शाम तक बालिका घर नहीं लौटी तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। वारदात को अंजाम देनेवाला मिठू भी परिवार के साथ बालिका की तलाश में लगा था। सात जनवरी को पुलिस ने ग्रामीणों की सूचना पर जमीन में दफनाया गया बालिका का शव बरामद किया। इसके बाद मीठू गांव छोड़कर फरार हो गया। नामजद प्राथमिकी दर्ज करने के बाद पुलिस ने घर पर दबिश दी तो वह नहीं मिला। पुलिस उसके मोबाइल पर लगातार नजर रखे हुए थी। उसने मोबाइल का स्विच ऑफ नहीं किया, जिसके कारण पुलिस को उसकी सारी लोकेशन मिलती रही। जैसे ही उसकी मोबाइल लोकेशन मुबंई मिली तो रामगढ़ पुलिस ने इसकी जानकारी मुंबई पुलिस को दी। पुलिस ने रेलवे पुलिस के सहयोग से शनिवार की रात मुंबई के कल्याण स्टेशन से गिरफ्तार किया है। हत्यारोपी को दुमका लाने के लिए रामगढ़ थाना के अवर निरीक्षक संतोष कुमार, सहायक अवर निरीक्षक प्रेम प्रकाश चौबे समेत अन्य पुलिस कर्मी मुंबई के लिए रवाना हो गए। ग्रामीण, स्कूल के बच्चे व जन प्रतिनिधियों ने शनिवार को हत्यारे की गिरफ्तारी के लिए रैली निकाली। कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने भी पुलिस को 24 घंटे के अंदर आरोपित को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था। इसी का नतीजा है कि आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

..

आरोपित को कड़ी दिलाने का होगा प्रयास : एसपी

रामगढ़ : रविवार को एसपी वाईएस रमेश ने एसडीपीओ अनिमेश नथानी के साथ गांव जाकर घटनास्थल का जायजा लिया। पुलिस अधीक्षक ने ग्रामीणों को बताया कि इतनी जघन्य अपराध करनेवाला आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस अपराध में जो भी व्यक्ति संलिप्त होगा, उसे किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ा जाएगा। उन्होंने ग्रामीणों के प्रति अपराधी को पकड़वाने में पुलिस का सहयोग करने के लिए धन्यवाद दिया। कहा कि आमतौर पर इस प्रकार की घटना के बाद लोग सड़क पर उतर जाते हैं। जिसके कारण पुलिस का सारा ध्यान सड़क जाम हटाने पर केंद्रित हो जाता है और इसी का फायदा उठाकर अपराधी फरार हो जाते हैं। लेकिन ग्रामीणों ने काफी संयम बरतते हुए पुलिस की कार्रवाई का इंतजार किया। जिसका नतीजा है कि दो दिन के अंदर इतना जघन्य अपराध करनेवाला आरोपित पकड़ा गया। कहा कि आरोपित को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाने के लिए पुलिस पूरी तरह तत्पर रहेगी। उन्होंने ग्रामीणों से भविष्य में भी इसी प्रकार का सहयोग करने की अपील की। ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक से आरोपित का केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने को कहा ताकि जल्द से जल्द पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस