Move to Jagran APP

दुमका-भागलपुर रेलमार्ग पर 112 किलोमीटर रेलवे की लूप लाइन का मालगाड़ी से किया गया स्पीड ट्रायल

दुमका-भागलपुर रेलमार्ग पर भागलपुर से दुमका स्टेशन के बीच करीब 112 किलोमीटर रेलवे की लूप लाइन का मालगाड़ी से स्पीड ट्रायल किया गया। अभी इस ट्रैक पर लूप लाइन में 15 किलोमीटर की रफ्तार से भरी हुई मालगाड़ी गुजरती हैं।

By Rohit Kumar MandalEdited By: Sat, 03 Sep 2022 11:04 AM (IST)
लूप लाइन में 15 किलोमीटर की रफ्तार से भरी हुई मालगाड़ी गुजरती हैं। (जागरण)

 संवाद सहयोगी, हंसडीहा ( दुमका ): दुमका-भागलपुर रेलमार्ग पर भागलपुर से दुमका स्टेशन के बीच करीब 112 किलोमीटर रेलवे की लूप लाइन का मालगाड़ी से स्पीड ट्रायल किया गया। अभी इस ट्रैक पर लूप लाइन में 15 किलोमीटर की रफ्तार से भरी हुई मालगाड़ी गुजरती हैं। अधिकारियों के मुताबिक जल्द ही इस ट्रैक पर 30 किलोमीटर की रफ्तार से मालगाड़ियां गुजरेंगी। शुक्रवार सुबह भागलपुर स्टेशन से दुमका स्टेशन के बीच लूप लाइन में भरी मालगाड़ी की रफ्तार बढ़ाने के लिए स्पीड ट्रायल हुआ। सीनियर डीएसटीई, मंडलीय अभियंता लाइन, चीफ लोको इंस्पेक्टर व पीडब्ल्यूआई आरके सिंह ने मालगाड़ी के इंजन में बैठकर स्पीड ट्रायल लिया।

मालगाड़ी को अशोक सिंह, सहायक लोको पायलट आंनद कुमार चला रहे थे। इस दौरान उन्होंने ट्रैक की गुणवत्ता मशीन से परखी। देखा गया कि झटका तो नहीं लग रहा है। रफ्तार के दौरान सिग्नल व्यवस्था कैसी है। पुल और पुलिया और रेलवे क्रासिंग पर कैसी रफ्तार से ट्रेन चल रही है। पीडब्ल्यूआई आरके सिंह के मुताबिक ट्रायल सफल रहा है। भागलपुर से दुमका के बीच टेकानी, धौनी, बाराहाट, मंदारहिल, हंसडीहा, नोनीहाट व बारापलासी स्टेशनों के लूप लाइन की जांच की गई।

अधिकारी अपनी रिपोर्ट बनाकर डीआरएम के माध्यम से रेल संरक्षा आयुक्त को भिजवाएंगे। अधिकारियों के अनुसार दुमका-भागलपुर रेलमार्ग पर मालगाड़ियों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। प्रतिदिन आठ से दस मालगाड़ी इस मार्ग होकर गुजरती है।