बासुकीनाथ मंदिर परिसर में करीब 15 हजार स्क्वायर फिट में मार्बल लगाने का काम शुरू

संवाद सहयोगी, बासुकीनाथ (दुमका): बासुकीनाथ मंदिर परिसर में नए मार्बल लगाए जा रहे हैं। मार्बल लगाए जाने की आधारशिला बासुकीनाथ मंदिर प्रभारी सह नगर पंचायत कार्यपालक पदाधिकारी आशुतोष ओझा, बासुकीनाथधाम पंडा धर्मरक्षिणी सभा अध्यक्ष मनोज पंडा, महामंत्री संजय झा, वैदिक आचार्य राजू झा, प्रेम शंकर झा सहित अन्य पंडा-पुरोहितों के कर कमलों से रखी गई। मंदिर प्रभारी आशुतोष ओझा ने कहा कि 15 दिनों के अंदर पूरे मंदिर परिसर में नए मार्बल बिछा दिए जाएंगे। यहां बता दें कि बासुकीनाथ की नगरी में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर है। खबर यह कि मंदिर परिसर में राजस्थान के मुकुंदपुर स्थित बंशीपहाड़ के उच्च गुणवत्तावाला सफेद रंग का मार्बल लगाया जा रहा है। खास बात यह कि अयोध्या के राम मंदिर निर्माण में भी यहीं का मार्बल इस्तेमाल में लाया जा रहा है। इस उच्च गुणवत्ता वाले मार्बल के लगाए जाने के पीछे उद्देश्य यह कि इस दरबार में आने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर परिसर में फिसलन और पांव में जलन दोनों से राहत मिल सके। इसके लिए मंदिर परिसर में तकरीबन 15 हजार वर्ग फीट में उच्च गुणवत्ता वाले फ्लोर मार्बल लगाने का काम शुरू हो चुका है। मार्बल को लगाने के लिए मंदिर परिसर में पूर्व से लगे फ्लोर टाइल्स को दिन-रात मशीन की सहायता से उखाड़ने का काम चल रहा है। इसके साथ-साथ नए मार्बल को लगाने के लिए आधा दर्जन मजदूर काम पर लग हुए हैं। बासुकीनाथ मंदिर प्रबंधन से प्राप्त जानकारी के अनुसार जमशेदपुर के एक श्रद्धालु बासुकीनाथ मंदिर परिसर में उच्च गुणवत्ता वाले मार्बल को लगाने की पूरी राशि व्यय कर रहे हैं। श्रद्धालु के द्वारा अपने नाम को गुप्त रखने की मंदिर प्रबंधन से गुजारिश की गई है। यहां बता दें कि बासुकीनाथ मंदिर परिसर में करीब पांच वर्ष पूर्व लगाए गए फ्लोर टाइल्स में काफी चिकनाहट थी जिसकी वजह से अक्सर श्रद्धालु अथवा स्थानीय पंडा- पुरोहित फिसलकर चोटिल हो जाते थे। इसकी वजह से इस टाइल्स को बदलने का आग्रह भी बार-बार किया जा रहा था। भोलेनाथ के एक अनाम भक्त जमशेदपुर निवासी को जब इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने मंदिर परिसर में करीब 15 हजार स्क्वायर फीट में उच्च गुणवत्ता वाला मार्बल लगवाने का आग्रह किया। मंदिर प्रबंधन ने उनके आग्रह को स्वीकार करते हुए यह कार्य प्रारंभ कर दिया है। इस मौके पर महामंत्री संजय झा गुड्डू, बासुकीनाथ मंदिर के कुंदन झा, भवानी सिकदार, कुणाल झा, भास्कर पंडा, राजेश कुमार झा सारंग बाबा, पिंटू गोस्वामी, पुरोहित प्रेम शंकर झा, मनोज कुमार यादव, मोहित झा, सुमन झा, कुणाल झा सहित अन्य पंडा-पुरोहित मौजूद थे।

Edited By: Jagran