दलाही : दैनिक जागरण में खबर प्रकाशित होने के बाद उत्क्रमित मध्य विद्यालय आस्ताजोड़ा-1 के बच्चों को एक साल बाद शुद्ध जल नसीब हुआ। 12 अप्रैल को समस्या पर खबर प्रकाशित हुई थी। उत्क्रमित मध्य विद्यालय आस्ताजोड़ा एक में विगत एक साल से पेयजल संकट है। यह समस्या एक साल से थी। नतीजतन बच्चे कुआं का गंदा पानी पीने के लिए मजबूर थे। यहां तक कि मध्याह्न भोजन भी कुआं के ही पानी से बन रहा था। सुदूर क्षेत्र होने के कारण बच्चों के अभिभावक भी कुछ नहीं बोल पाते थे। विद्यालय के प्राचार्य सुशील कुमार दास ने कई बार अपने स्तर से विभागीय अधिकारियों को आवेदन दिया। बसकीडीह पंचायत के मुखिया असुंता हेंब्रम को भी कई बार आग्रह के बाद बात को साल भर से टाल मटोल किया जाता रहा। आगामी चुनाव का मतदान केंद्र का कलस्टर भी इसी विद्यालय में है।

जागरण के इस पड़ताल व खबर प्रकाशित होने के पश्चात अधिकारी हलचल में आए। अगले ही दिन बोरिग हुई और मंगलवार को नया चापाकल ने पानी निकलना भी शुरू कर दिया।

बच्चों ने कहा कि अब गंदा पानी से निजात मिला। अब निर्मल जल विद्यालय प्रांगण में ही मिलेगा। विद्यालय परिसर में नए चापाकल लगने से बागवानी फुलवारी के लिए भी बच्चे इच्छुक हैं। साल भर की दिक्कतें समाप्त हो गई हैं।

---

दैनिक जागरण की इस पहल को कोटि-कोटि धन्यवाद। खबर का असर इस कदर रहा कि एक दिन के बाद ही नया बोरिग हो गया। किसी ने कल्पना भी नहीं किया था कि इतना जल्दी नया बोरिग कर चापाकल लग जाएगा। बच्चा व पूरा विद्यालय परिवार बेहद खुश है। और दैनिक जागरण की प्रसंशा कर रहे हैं। कहा कि दैनिक जागरण जनता की हर प्रकार की समस्याओं को समय-समय पर उठाते रहता है।

सुशील कुमार दास, प्रधानाचार्य

-------------------------

Posted By: Jagran