जागरण संवाददाता, दुमका : दुमका रेलवे स्टेशन पर कोयला रैक के अधिष्ठापन का विरोध तेज होने लगा है। स्टेशन के आस पास बसी आबादी ही इसका विरोध कर रही है। लोगों को भय है कि आने वाले दिनों में कोयला रैक की वजह से प्रदूषण बढ़ेगा और उनका जीना दूभर हो जाएगा। इतना ही नहीं इसकी वजह से रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्री भी इसकी चपेट में होंगे।

रविवार को केंद्रीय रेल मंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन पूर्व मंत्री व भाजपा नेत्री डा.लुइस मरांडी को सौंपा। रविशंकर मंडल, प्रदीप शर्मा, ऋषि शर्मा, चंदन तिवारी, निरंजन यादव, शशिकांत मंडल, प्रेम केवट, टिकू शर्मा, शशि शर्मा, रूमा देवी, मनीषा शर्मा, सावित्री देवी, निरंजन यादव, प्रदीप शर्मा, शिवप्रसाद शर्मा, प्रमिला देवी, नुपूर शर्मा, कविता कुमारी, सावित्री देवी, दीपक शर्मा, नेहा शर्मा, भूदेव मिस्त्री, छवि देवी, जयदेव शर्मा ने कहा कि कोयला लोडिग के लिए रैक का निर्माण कराया जा रहा है। अगर कोयला रैक का निर्माण वर्तमान चिह्नित स्थल पर होता है तो इससे रेल यात्रा करने वाले यात्रियों के अलावा आसपास के एक दर्जन गांव की घनी आबादी भी सीधे तौर पर प्रभावित होगी। प्रदूषण से कई तरह की बीमारियां बढ़ेगी। रेल यात्रियों को भी परेशानी होगी। इसलिए यहां इसे लगाने की अनुमति नहीं दी जाए। डॉ.लुइस ने ग्रामीणों को भरोसा देते हुए कहा है कि वे इस मामले में केंद्रीय कोयला मंत्री तक उनकी समस्याओं को पहुंचा कर जनहित को देखते हुए समुचित पहल करने का आग्रह करेंगी। ग्रामीणों ने अपनी मांगों की प्रति आसनसोल के डीआरएम एवं दुमका की उपायुक्त को भी प्रेषित किया है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप