जागरण संवाददाता, दुमका : शहर के इंडोर स्टेडियम में बुधवार को जल जीवन मिशन पर जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें उपायुक्त राजेश्वरी बी ने अधिकारी व जन प्रतिनिधियों को जल संचय करने की शपथ दिलाई।

उपायुक्त ने कहा कि सभी को जल संचयन की ओर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। महत्वपूर्ण है कि वर्षा की एक-एक बूंद को बचाएं एवं शत प्रतिशत जल का संचय करें। जल के बिना जीवन संभव नहीं है। इस के लिए सामूहिक प्रयास करना होगा। गर्मी के मौसम में जिले में पानी की कमी हो जाती है। बहुत कम ऐसे प्रखंड हैं जहां पर्याप्त मात्रा में पानी है। जल सहिया, पंचायत व जन प्रतिनिधियों को जल जीवन मिशन के तहत हो रहे कार्य में सहभागिता निभाने की अपील की। जल संरक्षण के प्रति सजगता और स्त्रोत की सफाई रखना पंचायत के समुदाय को सुनिश्चित करना होगा। हर घर जल योजना सरकार की बेहद महत्वाकांक्षी योजना है। योजना के माध्यम से वर्ष 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार को नल से शुद्ध पेयजल देना है। उप विकास आयुक्त डॉ संजय सिंह ने कहा महत्ता समझकर इसे संरक्षित करने की जरूरत है। इसमें हर ग्रामीण को सहयोग करना होगा। ग्रामीण क्षेत्र में सक्रिय महिला मंडल की दीदीयां जिस तरह स्थानीय उत्पाद के माध्यम से आवश्यकता की पूर्ति कर रही हैं, उसी तरह गांव व पंचायत स्तर पर उनकी सहभागिता से जल संरक्षण अभियान को मूर्त रूप दिया जा सकता है। कार्यशाला में आइटीडीए निदेशक राजेश राय, जिला परिषद अध्यक्ष जायस बेसरा व असीम मंडल आदि मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप