धनबाद, साहिबगंज, जेएनएन। भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के युवा अधिकारी धनबाद के पूर्व नगर आयुक्त और वर्तमान में साहिबगंज के उपायुक्त राजीव रंजन विवादों में हैं। उनपर पर साहिबंगज सदर अस्पताल में तैनात महिला चिकित्सक डॉ. भारती पुष्पम ने गंभीर आरोप लगाया है। इसे IMA और JHASA ने गंभीरता से लिया है।

साहिबगंज के उपायुक्त राजीव रंजन पर सदर अस्पताल की चिकित्सक डॉ. भारती पुष्पम ने दुर्व्यवहार का आरोप लगाया है। कहा कि डीसी ने महिला पुलिस को बुलाकर पिटाई कराने की बात कही। स्थानांतरण की भी धमकी दी। उन्होंने इसकी शिकायत मुख्य सचिव से की है। सिविल सर्जन, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, झारखंड राज्य स्वास्थ्य सेवा संघ एवं महिला आयोग को भी जानकारी दी है। आइएमए के सचिव व झासा के प्रमंडलीय उपाध्यक्ष डॉ. मोहन पासवान ने कहा कि सोमवार को साहिबगंज सदर अस्पताल में एसोसिएशन व संघ की संयुक्त बैठक कर रणनीति तय होगी।

डॉ. भारती ने बताया कि बुधवार को सदर अस्पताल में उनकी ड्यूटी थी। शाम 4:06 बजे सिविल सर्जन ने फोन किया कि डीसी की पत्नी बीमार हैं। उनके आवास जाकर देखना है। तब वह खाना खाने घर जा रही थीं मगर फोन आने के बाद नर्स व बीपी नापने की मशीन लेने वापस सदर अस्पताल आईं। वहां 4:25 बजे पहुंचीं। इमरजेंसी में तैनात डॉक्टर से एक नर्स की मांग की। स्वास्थ्यकर्मी को बीपी मशीन गाड़ी में रखने को कहा। 4:32 बजे सदर अस्पताल से निकलीं और 4:36 बजे डीसी आवास पहुंचीं। वहां मौजूद गार्ड ने अंदर जाने से रोक दिया। वे वहां बैठी रहीं। तभी सीएस का फोन आया। डॉक्टर ने बताया कि काफी देर से गेट पर ही हैं, अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है। दो मिनट बाद ही उन्हें अंदर बुलाया गया। वहां कोई महिला नहीं थीं।

डॉक्टर भारती ने कहा- हमें देखते ही वे बिफर पड़े और देर से आने का कारण पूछा। मैंने सारी बात बताई। बावजूद उपायुक्त ने उन्हें गाली दी। कहा कि उन्हें किसी मरीज को नहीं दिखाना है। महिला पुलिस को बुलाकर पिटाई कराने की बात कही। यह भी कहा कि किसी सुदूर इलाके में स्थानांतरण कर देेंगे।

डॉक्टर भारती ने आरोप लगाया कि गुरुवार को उपायुक्त के इशारे पर कुछ लोग उनके आवास पर आए। उनके परिवार के सदस्यों को परेशान किया। महिला चिकित्सक का आरोप है कि डीसी की मंशा उनके प्रति सही नहीं है  वे उसे नुकसान पहुंचा सकते हैं।

बहस हुई थी : डॉ. भारती के साथ डीसी के आवास पर गईं नर्स संगीता चौड़े ने सिविल सर्जन डॉ. डीएन सिंह को आवेदन दिया है। कहा कि 16 अक्टूबर को डीसी व डॉ. भारती के बीच हल्की बहस हुई थी। तब मैडम की ओर से डीसी से माफी मांग ली थी। हम जब डीसी आवास पहुंचे तो कर्मचारी ने बैठने को कहा। डॉ. पुष्पम ने कहा कि डीसी साहब को बता दें कि हम पहुंच गए हैं। कुछ समय बाद डीसी साहब ने चैंबर में बुलाया। बोले कि एक घंटे से यहां बैठा हूं। तब डॉ. भी बोलीं, सर हम लोगों को भी यहां आए हुए 10 से 12 मिनट हो चुके हैं। तब हल्की बहस हुई।

उपायुक्त ने दुर्व्यवहार से किया इन्कारः उपायुक्त राजीव रंजन ने दुर्व्यवहार जैसी बात से इन्कार किया है। उन्होंने कहा कि आने में विलंब सोने पर मैंने थोड़ी नाराजगी जरूर जताई थी। दुर्व्यवहार जैसी कोई बात नहीं है। वह बेवजह मामले को तूल दे रही हैं।

Posted By: Mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप