जागरण टीम, गोड्डा: मेहरमा प्रखंड के पिरोजपुर-बाराहाट स्थित सिदो कान्हू चौक के पास एनएच 133 की दुर्दशा से नाराज कांग्रेस की महागामा से विधायक दीपिका पांडेय सिंह बुधवार को सड़क पर कीचड़ में ही बैठ गई थीं। गंदे पानी से स्नान कर विरोध किया था।

उनके इस कदम से ऐसी राजनीति गरमाई कि रांची तक हड़कंप मच गया। इंटरनेट पर भी आरोप-प्रत्यारोप होने लगे। गुरुवार की सुबह ही झारखंड के एनएच उपभाग के क्षेत्रीय अधिकारी अभिजीत चौधरी और एनएच डिवीजन, देवघर के कार्यपालक अभियंता आरबी सिंह पहुंच गए। पूरी टीम के साथ यहां जल जमाव देखा। इसके बाद 300 फीट तक कंक्रीट की सड़क बनाने का काम शुरू कर दिया।

अभिजीत ने बताया कि यह हिस्सा बिहार के भागलपुर एनएच डिवीजन के अधीन है, हालांकि भौगोलिक रूप से यह झारखंड में है। यहां हम कंक्रीट की सड़क बनवा रहे हैं, इसके लिए बिहार एनएच उपभाग के मुख्य अभियंता और भागलपुर एनएच डिविजन से सहमति ले ली है। जल निकासी के लिए जगह नहीं होने से नाली नहीं बन सकती, इसलिए कंक्रीट की सड़क बनाएंगे। कोशिश है कि 15 से 20 दिनों में यह काम पूरा कर लिया जाए। यहां का रखरखाव भागलपुर एनएच डिवीजन को करना था। गत वर्ष केंद्र सरकार से फंड भी मिला था। वहीं आरबी सिंह का कहना है कि एनएच 133 के बिहार वाले इस अंश को भी झारखंड एनएच विभाग दुरुस्त कराएगा।

इधर स्थानीय लोगों का कहना है कि दो साल से सड़क की हालत खस्ता थी। बावजूद कोई सुध नहीं ले रहा था। विधायक ने सांसद निशिकांत दुबे पर निशाना साधा, उन्होंने भी पलटवार कर कहा कि अपनी सरकार के खिलाफ धरना दे रही हैं। सियासी पारा ऐसा चढ़ा कि जिले से लेकर राज्य मुख्यालय तक हरकत में आ गया। जहां दीपिका बैठकर विरोध जता रही थीं, वहां 100 फीट तक सड़क पर जलजमाव था।

Edited By: Deepak Kumar Pandey