महुदा : धोवाटांड़ की किशोरी हत्याकांड को लेकर पुलिस की कार्रवाई को तेज करने की मांग को लेकर रविवार को ग्रामीणों ने बैठक कर पुलिस की उदासीनता पर रोष जताया। मुखिया बिदेंश्वर महतो ने कहा कि अगर एक सप्ताह के अंदर पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं करती है तो ग्रामीण सड़क पर उतरने का बाध्य होंगे। उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपित को रिमांड पर लेकर उसके अन्य साथियों का पता लगाए। आजसू नेता नरेश महतो ने कहा कि इस मामले में आरोपित अपने को नाबालिग बताकर आत्मसमर्पण किया है, जबकि वह बालिग है। इसकी मेडिकल जांच होनी चाहिए। 27 जून को किशोरी का शव दामोदर नदी के बारिकी रेल पुल के पास मिला था। शव की पहचान करने के बाद उसके पिता महेश्वर महतो ने भक्तुडीह निवासी अरविंद गोप एवं उसके साथियों पर पुत्री को बहला फुसलाकर घर से ले जाने तथा हत्या कर साक्ष्य छिपाने के उद्देश्य से शव रेलवे लाइन पर फेंक देने का आरोप लगाया था। इधर आरोपित अरविद ने न्यायालय में आत्मसमर्पण किया। अभिमन्यु महतो, सुषमा देवी, लड्डू महतो, सुनील महतो, प्रीतम कुमार महतो, महेश्वर महतो, दिनेश महतो, विकास कुमार महतो, राजकुमार महतो, जगदीश महतो, भरत महतो, धीरन महतो, संजय कुमार आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस