धनबाद : इस बार विधानसभा चुनाव में तकरीबन 80 कंपनी अतिरिक्त सुरक्षा बल धनबाद पुलिस को मिलने की आस है। इसी आस में यहां की पुलिस चुनाव के दौरान बूथों का सुरक्षा घेरा तैयार करने में जुटी है। सुरक्षा मानक को लेकर पुलिस ने जो रणनीति बनाई है, उसके आधार पर इस बार आठ से दस हजार सुरक्षा बलों की ड्यूटी चुनाव में लग सकती है। ऐसे तो पुलिस मुख्यालय ने भी जिला पुलिस को पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल मुहैया कराने का आश्वासन दिया है। चुनाव एक सप्ताह पूर्व ही जिला पुलिस को पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल मिल जाएंगे। जिसके सहारे पुलिस नक्सल इलाके के बूथों की सुरक्षा कवच तैयार करेगी। भौगोलिक दृष्टिकोण से भी उस इलाके में पर्याप्त संख्या में सीआरपीएफ के साथ सुरक्षा जवान पहले से कैंप करेंगे तथा एलआरपी की ठोस व्यवस्था होगी। जिला में तकरीबन चार हजार पुलिसकर्मी पहले से मौजूद हैं। सभी को चुनाव ड्यूटी में लगाया जा रहा है। नक्सल प्रभावित टुंडी, तोपचांची, राजगंज, बरवाअड्डा समेत विभिन्न इलाकों में भारी संख्या में सशस्त्र बलों की ड्यूटी रहेगी। संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों पर अत्याधुनिक हथियार से लैश पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इस बार शहरी इलाके में भी पुलिस प्रशासन का पूरा फोकस रहेगा, खासकर झरिया, बाघमारा, निरसा व सिंदरी विधानसभा क्षेत्र में सशस्त्र बलों की ड्यूटी रहेगी।

-------------------

ड्रोन कैमरा से होगी बूथों पर निगरानी

धनबाद : चुनाव के दौरान संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों पर निगरानी के लिए सुरक्षा व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए पुलिस ड्रोन कैमरा का इस्तेमाल करेगी। फिलहाल चार ड्रोन कैमरा जिला पुलिस के पास पहले से मौजूद है। वहीं जरूरत के आधार पर कुछ ड्रोन कैमरा को पुलिस किराए पर भी लेगी। शहर के सभी चेकपोस्ट की बढ़ाई गई सुरक्षा

धनबाद : चुनाव को लेकर शहर के सभी चेकपोस्ट की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। दूसरे राज्य व विभिन्न जिले के वाहनों पर पुलिस की खास नजर है। चेकपोस्ट की सुरक्षा को लेकर एसएसपी किशोर कौशल ने सभी थानेदार व डीएसपी को सख्त आदेश जारी किए हैं। थानेदारों से कहा गया है कि दिन भर में दो बार चेकपोस्ट पर निगरानी खुद जाएं और दिन भर की रिपोर्ट लें। इसके अलावा संबंधित चेकपोस्ट के डीएसपी को भी 24 घंटे में एक बार चेकपोस्ट का निरीक्षण करने का आदेश एसएसपी ने जारी किया है। चुनाव से पूर्व ट्रेड यूनियन के कुछ नेता व कार्यकर्ता पुलिस के रडार पर धनबाद : झरिया विधानसभा सीट पर चुनाव शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए पुलिस ने कई रणनीति बनाई है। खासकर ट्रेड यूनियन से जुड़े कुछ सक्रिय नेता व कार्यकर्ताओं की सूची पुलिस ने तैयार की है। इस सूची के आधार पर कुछ दागी नेताओं व कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस सीसीए सेक्शन तीन के तहत हर दिन थाने में हाजिरी व तड़ीपार कराने की कोशिश में जुटी है। इसके लिए दर्जन भर ट्रेड यूनियन के नेता व कार्यकर्ताओं के खिलाफ सीसीए का प्रस्ताव भी तैयार किया है। जिसे उपायुक्त के पास भेजा जाएगा। इस बार नक्सल इलाके के साथ-साथ पुलिस झरिया, बाघमारा, निरसा व सिंदरी इलाके की सुरक्षा को लेकर पुलिस ने विशेष रणनीति बनाई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप