धनबाद , जेएनएन। शहर में शुक्रवार की रात करीब दस बजे रांगाटांड़ श्रमिक चौक के पास बस ने बाइक सवार दो युवकों को टक्कर मार दी। एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई। दूसरा गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसे तत्काल पीएमसीएच भेजा गया मगर इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई। मारे गए युवक संतोष यादव (34), पिता प्रसादी यादव तथा सोनू यादव (18), पिता हरिशचंद्र यादव हैं। दोनों रांगाटांड़ की ट्रैक्शन कॉलोनी के रहनेवाले थे और साला-बहनोई थे।
हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने रांगाटांड़ में काफी बवाल मचाया। पुलिस पर पथराव भी किया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। सिटी एसपी पीयूष पांडेय तथा ग्रामीण एसपी अमन कुमार के नेतृत्व में पुलिस भीड़ को काबू में करने की कोशिश में देर रात तक जुटी थी। श्रमिक चौक के आसपास भगदड़ का माहौल था। पथराव व लाठीचार्ज के डर से श्रमिक चौक के आसपास सभी दुकानें समय से पूर्व ही बंद हो गईं। लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागते रहे।
लोगों के पथराव में सिटी एसपी के अंगरक्षक एके मिश्रा का सिर फट गया। वहीं धनबाद थाना प्रभारी नवीन कुमार राय के अलावा एएसआइ सौरव कुमार को भी चोट लगी। पुलिस ने इस मामले में तकरीबन आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया है। घंटों बवाल के बाद रात करीब साढ़े 12 बजे मामला शांत हुआ।
गोली चलाने की धमकी के बाद भी होता रहा पुलिस पर पथरावः भीड़ पर नियंत्रण के लिए पुलिस ने माइक से एलान किया और गोली चलाने की धमकी दी। इसके बाद भी भीड़ छुप-छुप कर पुलिस पर पथराव करती रही। इसके बाद फिर पुलिस ने माइक से शांति की अपील की। फिर क्रेन मंगाकर अरमान बस को जब्त कर थाना ले गई। बस मालिक का नाम बबलू यादव बताया गया। वह भिस्तीपाड़ा का रहनेवाला बताया गया। बस को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया।
बस जलाने की भी कोशिशः आक्रोशित लोग बस जलाने पर उतारू थे। तब तक पुलिस पहुंच गई और लोगों को शांत करने में लग गई मगर भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया। इससे पुलिस को भागना पड़ा। पथराव के डर से कोई स्टेशन की ओर भागा तो कोई नया बाजार की ओर। पुलिस की संख्या कम थी जबकि हजारों लोग मौके पर जुट गए थे। बैंकमोड़, धनबाद, सरायढेला थाना प्रभारी समेत दर्जनों पुलिसकर्मी पहुंच गए थे मगर भीड़ पर काबू नहीं पा रहे थे। ग्रामीण एसपी एसडी राज महेश्वर के अलावा डीएसपी भी मौजूद थे।
खलासी चिल्ला रहा था, हट जाइए बस का ब्रेक फेल हो गया हैः श्रमिक चौक के पास मौजूद लोगों के अनुसार स्टेशन स्थित स्टैंड से अरमान बस करीब 10 बजे बिहारशरीफ जाने के लिए खुली थी। इसके तुरंत बाद ही खलासी चिल्लाने लगा कि सामने से हट जाइए, बस का ब्रेक फेल हो गया है। बस तकरीबन 30 किमी की स्पीड में थी। श्रमिक चौक के पास ट्रैफिक पुलिस पोस्ट के ठीक सामने काफी लोग थे। चालक ने भीड़ को बचाने के लिए गाड़ी को दाहिने साइड की तरफ एकाएक काट दिया। इसी बीच बायीं साइड से बाइक सवार साला-बहनोई बस की चपेट में आ गए। ठोकर से बाइक सवार गिरा और बाइक का एक हिस्सा बस में फंस गया। बाइक भी बस के साथ खिंचाती चली गई। तभी बस का अगला दो चक्का डिवाइडर पर चढ़ गया। इसके बाद बस रुक गई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप