धनबाद, जेएनएन। चिकित्सकीय मानवता की पेशा है, वर्तमान समय में जहां डॉक्टर और मरीजों के बीच भले ही रिश्ते खराब की खबरें आ रही हैं, लेकिन कुछ ऐसे भी खबरें हैं जो दिल को सुकून दे जाते हैं। ऐसी घटना शनिवार को टुंडी समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में देखने को मिली।

टुंडी स्वास्थ्य केंद्र के डॉ विकास राणा अपने ओपीडी में बैठे हुए थे, तभी दोपहर 12 बजे के समय नोहाटी ( टुंडी) निवासी रेखा देवी (42) पीएससी पहुंची। रेखा की तबीयत काफी खराब थी, उसे सांस लेने में परेशानी हो रही थी, रेखा ने बताया कि वह हृदय रोग की मरीज है। रेखा के साथ कोई भी व्यक्ति नहीं था, वह अकेले ही किसी तरह पीएससी पहुंच सकी थी। पीएससी पहुंचने के बाद वह बेसुध हो रही थी।

पीएससी में उपस्थित लोग और डॉक्टर राणा ने 108 एंबुलेंस पर कई कॉल किए, लेकिन एंबुलेंस से संपर्क नहीं हो पाया। वहीं पीएससी का दो एंबुलेंस पीएमसीएच गया हुआ था। दूसरी ओर महिला की तबीयत खराब हो रही थी, इस बीच डॉ राणा ने अपने निजी वाहन से ही मरीज को बैठाकर आनन-फानन में पीएमसीएच लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टरों की टीम ने रेखा देवी को देखा और बताया कि तुरंत रेखा देवी नहीं आती तो उसकी जान जा सकती थी फिलहाल रेखा की स्थिति सामान्य बनी हुई है। रेखा के पति का नाम शत्रुघन ठाकुर है, सूचना मिलने के बाद परिजन पीएमसीएच पहुंचे।

Posted By: mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप