धनबाद, जेएनएन। रेलवे अब कम आमदनी वाले स्टेशन और हॉल्ट पर ट्रेनों का ठहराव बंद करने की तैयारी में है। दहेज हत्या के मामले में पति समेत तीन को 15 वर्ष की कैद की सुनायी गई। निरसा में ट्रक और ट्रेलर की जोरदार टक्कर में चालक और खलासी बाल-बाल बच गए। सपा नेता अखिलेश यादव व डिंपल बनियाहीर में एक सभा करेंगे। शहर के चाय दुकान पर चुनावी चर्चा में एक बुजुर्ग ने कहा कि टक्कर तो भाजपा-कांग्रेस में ही होगा।

कम आमदनी वाले स्टेशन व हॉल्ट पर नहीं रुकेंगी ट्रेनें

अपनी आर्थिक सेहत सुधारने के लिए रेलवे कई नुस्खे अपना रही है। खर्च में कटौती को लेकर मंत्रलय लगातार दबाव भी बना रहा है। यही वजह है कि रेलवे अब कम आमदनी वाले स्टेशन और हॉल्ट पर ट्रेनों का ठहराव बंद करने की तैयारी में है। धनबाद रेल मंडल के सभी हॉल्ट और स्टेशन की समीक्षा शुरू हो गयी है। जिन जगहों पर यात्री न के बराबर हैं, उन्हें बंद कर दिया जाएगा।

दहेज हत्या में पति समेत तीन को 15 वर्ष की कैद

दहेज के लिए विवाहिता की हत्या कर देने के मामले में सोमवार को अदालत ने फैसला सुनाया। धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरेंद्र शर्मा की अदालत ने छोटा पिछरी बरवाअड्डा निवासी पति योगेश सिंह चौधरी, ससुर अमलेश्वर सिंह चौधरी एवं सास उषा देवी को दहेज के लिए हत्या के आरोप में 15-15 वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। अदालत ने 14 नवंबर को तीनों को दोषी करार दिया था। अदालत ने सजा के बिंदु पर सुनवाई के लिए 18 नवंबर की तारीख निर्धारित की थी।

निरसा में ट्रक और ट्रेलर की जोरदार टक्कर

निरसा के देबियाना गेट के निकट मंगलवार सुबह राष्ट्रीय उच्चपथ पर एक ट्रक ने आगे जा रहे टेलर में जोरदार टक्कर मार दिया। इस घटना में ट्रक पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। हालांकि दुर्घटना में ट्रक के चालक और खलासी बाल-बाल बच गए, जिन्हें पुलिस ने स्थानीय होटल के स्टाफ की मदद से ट्रक से बाहर निकाला।

बनियाहीर में सभा करेंगे अखिलेश व डिंपल यादव

समाजवादी पार्टी के प्रदेश महासचिव मो. मुमताज अली ने झरिया विधानसभा से विजय यादव के सपा प्रत्याशी होने की घोषणा की। इस दौरान विजय ने बताया कि सपा नेता अखिलेश यादव व डिंपल बनियाहीर में एक सभा करेंगे। इसके लिए उन्होंने कार्यकर्ताओं को कमर कस कर चुनाव मैदान में उतरने की अपील की।

'खड़ा तो बहुते होगा, लेकिन टक्कर कांग्रेसे-बीजेपी में ही'

धनबाद के गोल्फ ग्राउंड गेट से सटे मनोज की चाय दुकान के बाहर लोग हल्की धूप के बीच चाय की चुस्की ले रहे थे। इस दौरान कुछ बुजुर्ग बैठकर चुनावी गपशप भी कर रहे हैं। उनका कहना है कि शहर में विकास तो हुआ पर अभी इसकी और बहुत गुंजाइश है। सभी के बीच विधानसभा सीटों पर चर्चा हो रही है। यहां नेताओं के राष्ट्रीय पार्टी छोड़कर स्थानीय राजनीतिक दलों में शामिल होने का मुद्दा भी हावी है। इस बीच रवींद्र ओझा एकाएक बोल पड़ते हैं कि जाए दीजिए, खड़ा तो बहुते होगा, लेकिन टक्कर कांग्रेसे-बीजेपी के बीच रहेगा। 

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस