धनबाद, जेएनएन। जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मैथन डैम पर पिकनिक का आनंद लिया। झरिया के जालसाल ने रेलवे में नाैकरी का झांसा देकर बिहार के मुंगेर के युवकों के लाखों रुपये ठगे। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया गया। रोटरी क्लब ने धनबाद में ऑक्सीजन बैंक शुरू किया। संजय सिंह को बनाया गया इंटक का राष्ट्रीय महासचिव। 

मैथन डैम पर जश्न-ए-बहारा 

धनबाद जिले के तमाम आला अधिकारियों ने रविवार को मैथन डैम में पार्टी व नौका विहार का आनंद उठाया। मानो कोरोना महामारी से जंग जीत ली हो। जब वरीय पदाधिकारियों से संपर्क किया गया तो कोई बोलने को तैयार नहीं हुआ। मैथन डैम स्थित स्पोट्रर्स हॉस्टल के समीप बड़ा सा पंडाल बनाया गया था। जिला से तमाम बड़े अधिकारी पहुंचे और पिकनिक का मजा उठाया। वरीय पदाधिकारियों ने बाइक व साइकलिंग भी की। बाद में अधिकारियों ने मैथन डैम में नौका विहार करने के साथ-साथ मैथन स्थित एक होटल में विश्राम भी किया। अब सवाल उठता है कि इस कोरोना काल में जब सार्वजनिक भोज पर पाबंदी है। ऐसे में अधिकारी मैथन डैम पहुंचकर मौज मस्ती करते हैं तो आम लोगों के बीच क्या संदेश जाएगा।

रेलवे में नाैकरी का झांसा देकर लाखों की ठगी

रेलवे में नौकरी दिलाने का झांसा देकर बिहार के मुंगेर जिले के हवेली खड़गपुर के आधा दर्जन से अधिक युवकों से लाखों रुपये की ठगी करने का मामला सामने आया है। रेलवे में नाैकरी के लिए लाखों रुपये देने वाले बेरोजगार युवक परेशान होकर शनिवार की रात झरिया पहुंचे। ठगी करने वाले के घर के सामने दो भुक्तभोगी धरना पर बैठ गए। रातभर दोनों युवक ठग के घर के दरवाज पर ही बैठे रहे। इस बीच ठग पवन यादव उर्फ रणविजय सिंह भाग निकला। भुक्तभोगी युवकों ने बताया कि रेलवे में नाैकरी के लिए वर्ष 2018 में रुपये दिए थे। दो वर्ष बाद भी नौकरी नहीं मिलने पर शनिवार की रात भुक्तभोगी बिहार के खड़गपुर से झरिया पहुंचे। भुक्तभोगी शत्रुघ्न कुमार और अकरम खान ठग पवन यादव उर्फ रणविजय सिंह के शालीमार झरिया स्थित घर पहुंचे। रुपये की मांग करने लगे। रात भर दोनों युवक पवन के घर के सामने ही रहे। इसी बीच मौका का फायदा उठाकर पवन घर से फरार हो गया। शत्रुघ्न ने बताया कि वर्ष 2018 में गांव के श्रवण कुमार के कहने पर पवन को नौ लाख रुपये जमीन बेच कर दिए थे। अकरम ने कहा कि हमने भी नौकरी के लिए पांच लाख रुपये  दिए थे। हमलोगों को अब तक नाैकरी नहीं मिली। पवन हम लोगों के अलावा गांव के आधा दर्जन युवकों से लाखों रुपए की ठगी  रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर की है। 

राजपूत कल्याण मंच ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का फूंका पुतला 

मुंबई में फिल्म अभिनेत्री कंगना रनाैत का दफ्तर ढहाए जाने का राजपूत कल्याण मंच धनबाद ने विरोध किया है। साथ ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को कायर करार दिया है। मंच ने कहा है कि उद्धव ठाकरे एक महिला के खिलाफ लड़ रहे हैं। एक महिला को प्रताड़ित किया जा रहा है। पूरी महाराष्ट्र सरकार और शिवसेना एक महिला के पीछे पड़ी है। यह शर्मनाक है। मंच की तरफ से रविवार को हीरक रोड में विनोद बिहारी चाैक पर उद्धव ठाकरे का पुतला दहन किया गया। 

रोटरी क्लब ने शुरू किया ऑक्सीजन बैंक

रोटरी क्लब ऑफ धनबाद मिडटाउन और रोटरी क्लब ऑफ धनबाद ने संयुक्त रूप से धनबाद में पहला ऑक्सीजन बैंक शुरू किया। इसका औपचारिक उद्घाटन गुरुद्वारा जोड़ाफाटक रोड गुरद्वारा में जिला गवर्नर राजन गंडोत्रा ​​ने किया। इस अवसर पर रोटेरियन अंजू गंडोत्रा ने दो , सतपाल सिंह ने पांच और रोटेरियन दीपक पोद्दार ने भी 10 ऑक्सीजन सिलेंडरों का योगदान दिया और आवश्यकता पड़ने पर आगे भी योगदान करने के लिए भी प्रतिबद्धता जताई। रोटेरियन रविप्रीत  सिंह सलूजा और रोटेरियन रंजीत सिंह डांग परियोजना की देखभाल करने वाले चेयरपर्सन होंगे। रोटरी क्लब बहुत ही मामूली गारंटी और सुरक्षा के साथ जरूरतमंदों को सिलेंडर प्रदान करेगा। कंज्यूमर चार्ज भी बहुत कम होगा। रोटेरियन डॉ. राकेश इंदर और रोटेरियन विकास शर्मा,  प्रणव कुमार और रोटेरियन सुपिन्दर सिंह ने अपने-अपने सदस्यों के साथ इस कोविड 19  समय में बहुत सकारात्मक भूमिका निभाई। अमरजीत सिंह और जसमीत कौर सेवाओं की देखभाल करेंगे और रोगी और सेवाओं के साथ समन्वय करेंगे।

संजय सिंह बने इंटक के राष्ट्रीय महासचिव 

राष्ट्रीय इंटक के महासचिव की कमान संजय सिंह को दी गई है। पूर्व मंत्री व इंटक के राष्ट्रीय महासचिव राजेंद्र प्रसाद सिंह के निधन के बाद यह पद खाली था। राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. संजीवा रेड्डी के आदेश पर पीजे राजू ने पत्र जारी कर इसकी घोषणा की। संजय सिंह छतीसगढ़ में यूनियन का कार्यभार देखते हैं । बिहार के जमुई जिले के निवासी है। इंटक में फिलहाल उपाध्यक्ष पद थे। संजय सिंह ने कहा कि मौजूदा समय में केंद्र सरकार की जो मजदूर विरोधी नीतियां है उस पर फोकस कर काम करना है। श्रमिकों को उनकी सुविधा में किसी तरह की कटौती न हो, श्रम कानून में जो बदलाव लाया जा रहा है इसका विरोध, सरकारी संस्थानों को निजीकरण करने से बचाना है। 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस