धनबाद, जेएनएन। कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए झारखंड सरकार ने अनलॉकन 2.0 में Complete Lockdown/ Weekend Lockdown ( शनिवार शाम 4 से सोमवार सुबह 6 तक) किया है। इसका धनबाद और इसके पड़ोसी जिले बोकारो, गिरिडीह, जामताड़ा में खासा असर दिख रहा है। पूर्ण लॉकडाउन के दूसरे दिन रविवार को सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। बाजार बंद है। लोग सड़कों पर नहीं दिख रहे हैं। इक्का-दुक्का दो पहिया वालों का आना-जाना लगा हुआ है। पुलिस मुश्तैदी है। बेवजह सड़कों पर निकलने वालों से पुलिस निपट रही है। कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

तमाम दुकानें बंद

कोरोना संक्रमण को रोकने को लेकर राज्य में 38 घंटे का पूर्ण लॉक डाउन लगाया गया है। दूसरी लहर के प्रभाव को कम करने और तीसरी लहर को रोकने को लेकर यह आदेश दिया गया है। शनिवार की शाम से ही पूर्ण लॉक डाउन शुरू है। इसका असर रविवार की सुबह से ही देखेने को मिली। शहर के बैंक मोड़, पुराना बाजार, जोड़ाफाटक रोड, धनसार, मटकुरिया, रांगाटांड, बरटांड, बेकारबांध्, पार्क मार्केट, हीरापुर, पुलिस लाइन, स्टील गेट समेत तमाम बाजार बंद थे और लोग नदारद थे। दवा दुकानें और अस्पताल खुले हुए हैं।

बाजार पूरी तरह से बंद

केंदुआ से लेकर स्टील गेट तक बाजार पूरी तरह से बंद रहा। मेडिकल एवं इससे जुड़े दुकानों, प्रतिष्ठानों एवं संस्थानों को छोड़ अन्य किसी भी प्रकार की दुकानें कहीं भी खुली हुई नहीं थी। हालांकि मोहल्ला में कुछ सब्जी और फल वाले घुमते देखे गए। खास कर अपार्टमेंट में यह नजारा देखने को मिला।

दो पहिया वाहनों का लगा रहा आना-जाना

शहर की सड़कों पर दो पहिया वाहनों का आना जाना लगा रहा। चार पहिया वाहन भी सड़कों पर देखे गए। हालांकि अन्य दिनों की अपेक्षा इनकी संख्या काफी कम थी। शहर के मटकुरिया चेक पोस्ट, बैंक मोड़, रांगाटांड, सिटी सेंटर चौक और रणधीर वर्मा चौक पर पुलिस तैनात दिखी। फिलहाल किसी वाहन को रोका नहीं गया और ना ही पूछताछ की जा रही थी। बात जिले के कोलियरी क्षेत्रों की करें तो सुबह पहली पाली को लेकर मजदूरों का आना जाना देखा गया। कालोनियों में लोग अपने घरों में थे और कुछ अपने मोहल्ले में ही इधर उधर घूमते देखे गए।

  • संपूर्ण लॉकडाउन में छूट
  • स्वास्थ्य सेवा
  • दवा दुकान
  • रेस्टूरेंट ( सिर्फ होम डिलिवरी )
  • औद्योगिक प्रतिष्ठान
  • कृषि क्षेत्र
  • खनन
  • डोर-टू डोर दूध और सब्जी की सप्लाई
  • पेट्रोल पंप

Edited By: Mritunjay