बोकारो, जेएनएन। बोकारो स्टील की हॉट स्ट्रिप मिल में ट्रांसफार्मर लगाने के दौरान हुई लापरवाही के कारण नाइट्रोजन गैस का रिसाव हो गया है। इसके चलते महाप्रबंधक वी नारायण के अलावा  एक कर्मचारी तथा एक ठेका श्रमिक  बेहोश हो गए। तीनों को तत्काल इलाज के लिए बोकारो जनरल अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां उनका इलाज हो रहा है। 

सूत्रों के अनुसार झांसी से आए विद्युत ट्रांसफार्मर को लगाने के दौरान इसमें कंपनी की ओर से भरी गई नाइट्रोजन गैस को खाली नहीं किया गया। जबकि इस गैस को सुरक्षा के प्रावधानों के साथ निकाल देना चाहिए था। गैस को खाली कर उसमें तेल भरना चाहिए था। तेल डाले बिना ही ट्रांसफार्मर लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। ताकि जल्द इसे चालू किया जा सके। नतीजा गैस रिसाव होने लगा। इसकी चपेट में आकर वी नारायण और दो मजदूर बेहोश हो गए। चूंकि ट्रांसफार्मर में नाइट्रोजन गैस थी इसलिए बड़ा हादसा नहीं हुआ, यदि दूसरी कोई खतरनाक गैस होती तो बड़ा हादसा हो सकता था। दरअसल ट्रांसफार्मर खराब नहीं हो इसलिए इसमें नाइट्रोजन गैस भरने के बाद गंतव्य को भेजा जाता है। 

सुरक्षा में हो रही लापरवाही 

क्रांतिकारी इस्पात मजदूर संघ के महामंत्री राजेंद्र सिंह ने कहा है कि  चूंकि नाइट्रोजन गैस थी इसलिए बड़ा हादसा नहीं हुआ। प्रबंधन सुरक्षा के मुद्दे पर लापरवाही कर रहा है। यदि कोई  और खतरनाक गैस होती तो बड़ी घटना हो सकती थी। प्रबंधन सुरक्षा मानकों का ध्यान रखकर काम कराए। ताकि ऐसे हादसे की पुनरावृत्ति न हो। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस