सिंदरी, जेएनएन। धनबाद के भूली, गोविंदपुर व निरसा की मस्जिदों में ठहर कर इस्लाम धर्म का प्रचार करने वाले दस लोगों को सिंदरी पुलिस ने गुरुवार देर शाम पकड़ा। इनमें चार धर्म प्रचारक हैं। ये लोग सिंदरी बस्ती में नाव से दामोदर नदी को पार कर पश्चिम बंगाल के पुरुलिया भागने की कोशिश में थे। सिंदरी पुलिस को सूचना मिली तो उन लोगों को रोका गया। पूछताछ के बाद कोरोना की जांच के लिए उन्हें पीएमसीएच भेज दिया गया। इधर, सिंदरी के डोमगढ़ मस्जिद सह मदरसा में पांच संदिग्ध लोग पुलिस की निगाह में आए। पूछताछ में मालूम चला कि सभी बिहार से आये थे। सिंदरी थानेदार राज कपूर ने कहा कि सारे लोगों को पीएमसीएच भेज कर जांच कराई गई है। 

दरअसल, सिंदरी पुलिस को सूचना मिली कि गोविंदपुर की मस्जिद में ठहरे कुछ लोग गलत तरीके से झारखंड सीमा को पार करने की कोशिश में हैं। घेराबंदी की गई तो सिंदरी बस्ती में सभी पकड़ाए। पूछताछ में उन लोगों ने बताया कि इस्लाम के प्रचार के लिए 24 मार्च को भूली आए थे। उसके बाद गोविंदपुर के खेरुनिशा मस्जिद, भितिया ईदगाह मस्जिद, आसनबनी जामा मस्जिद, बोड़ांगडीह मस्जिद, कंचनडीह जामा मस्जिद, निरसा के पांड्रा स्थित खेरू आलम मस्जिद, रांगामाटा नयी मस्जिद में धार्मिक प्रचार किया।

गोविंदपुर के सरजाह मस्जिद में धार्मिक जमात खत्म हुई तो उन लोगों को बाइक से डोमगढ़ पहुंचाया गया। यहां से नाव के सहारे दामोदर नदी को पार कर पुरुलिया जाना था। इसके बाद सिंदरी पुलिस ने डोमगढ़ मस्जिद में बाहर से आकर रुके लोगों के बारे में छानबीन की। जहां बिहार से आकर रह रहे पांच और लोग मिले। इसके बाद पुलिस ने सिंदरी की जामा मस्जिद एवं रोड़ाबांध स्थित एफ टाइप मस्जिद में भी छानबीन की। पूछताछ में बताया कि निजामुद्दीन मरकस के बाद तब्लीगियों की धर-पकड़ के बाद वे लोग डर गए थे। लॉकडाउन के कारण सभी रास्ते सील हैं। इस कारण नदी के रास्ते प. बंगाल में प्रवेश कर जाना चाहते थे। 

दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी मरकज में शामिल होने वालों से कोरोना वायरस के फैलाव को देखते हुए झारखंड में भी कार्रवाई हो रही है। तब्लीगियों की खोजबीन हो रही है। इसके बाद धनबाद जिले में माैजूद तब्लीगी इधर-उधर भाग रहे हैं। धनबाद की सीमा को पार कर प. बंगाल में भाग रहे हैं। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस