देवघर, जेएनएन। देवघर के रहने वाले सूरज कुमार दुबे सेना के मेडिकल कोर में शामिल होकर देश की सेवा करेंगे। वे डॉक्टर के पद पर बहाल हुए हैं। शनिवार को उनका कमीशन पूरा हुआ है। अब वे बतौर मेडिकल ऑफिसर कोविड के खिलाफ देश के साथ जंग का हिस्सा हाेंगे। उनके भाई सौरभ दुबे ने बताया कि सूरज ने देवघर के डीएसपी स्कूल से दसवीं व रेड रोज स्कूल से 12 वीं पास की। पिता दिलीप कुमार दुबे सीआरपीएफ में एएसआइ के पद पर कार्यरत हैं। सूरज पढ़ने में काफी तेज थे और शुरू से ही अच्छा रिजल्ट आया।

2016 में पास की नीट की परीक्षा

साैरभ के अनुसार 2016 में सूरज ने नीट की परीक्षा पास की। वे शुरू से ही देश की सेवा करना चाहते थे। इस कारण उन्होंने नीट की परीक्षा पास करने के बाद आर्म्ड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज में दाखिला लिया। इसके लिए उन्होंने ऑल इंडिया रैंक 62 प्राप्त किया था। मेडिकल की पढ़ाई में भी उन्होंने बेहतर रैंक प्राप्त किया। पढ़ाई के साथ ही उन्हें साइकिल चलाने, लंबी दौड़, ट्रैकिंग आदि में भी काफी रुचि है। सूरज ने अपने इसी रुचि के कारण पुणे से गोवा तक की यात्रा साइकिल पर तय की। मां बबीता दुबे व अन्य स्वजनों ने भी सूरज की सफलता पर खुशी जाहिर की है।

 

Edited By: Mritunjay