धनसार, जेएनएन। दो दिन पूर्व धनसार थाना क्षेत्र के बरमसिया शनि मंदिर के पास हमले में जख्मी वासेपुर के शेरू खान की गुरुवार देर रात दुर्गापुर मिशन अस्पताल में मौत हो गई। घटना के बाद सक्रिय हुई पुलिस ने शेरू के भाई फेंकू के बयान पर बरमसिया निवासी अमित कुमार गुप्ता और राजेश यादव को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं मामले के अन्य आरोपित रिंकू खान, जग्गू पासवान, तथा शाही दरबार के मालिक साहेब की तलाश में जुटी है।

सिटी एसपी आर रामकुमार ने बताया कि पकड़े गए आरोपितों से पूछताछ में बात सामने आई है कि बरमसिया शनि मंदिर के पास वे सभी चाय पी रहे थे। तभी शेरू खान वहां पहुंचा और रंगदारी मांगने लगा। इस दौरान दोनों ओर नोकझोंक और मारपीट होने लगी। शेरू जख्मी होकर जमीन पर गिर पड़ा। गोली चलने की घटना पर एसपी ने बताया कि खोखा तो बरामद हुआ है। लेकिन गोली किसने चलाई है। इसकी जांच की जा रही है। गैैंग्स ऑफ वासेपुर से शेरू के संबंध की भी जांच चल रही है। शेरू के बारे में चर्चा है कि जेल में बंद गैंग्स ऑफ वासेपुर के गोपी खान से उसकी अच्छी पहचान थी।

घटना में और कौन-कौन लोग शामिल थे, इस बिंदु पर भी अनुसंधान जारी है। मालूम हो कि बुधवार रात वासेपुर निवासी 35 वर्षीय शेरू खान पर बरमसिया शनि मंदिर के समक्ष कुछ युवकों ने रॉड से हमला कर दिया था। हमले में वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया था। परिजन उसे इलाज के लिए दुर्गापुर मिशन अस्पताल ले गए थे। वहीं उसने गुरुवार देर रात दम तोड़ दिया। शुक्रवार को पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव को अपने पैतृक गांव बिहार के अरवल ले गए। इसके बाद पुलिस ने धनसार, बरमसिया और भूदा में छापामारी कर नामजद आरोपित अमित कुमार गुप्ता और राजेश यादव को धर दबोचा है।

अनुसंधान व आरोपित परिवार के बयान में विरोधाभास : पुलिस मान रही हैै कि जमीन पर गिरने से शेरू के सिर पर गंभीर चोट लगी थी जबकि सिर पर लोहे के रॉड से प्रहार किया गया था। ऐसा संकेत पीएमसीएच के चिकित्सकों के माध्यम से मिला था। घटनास्थल पर पड़े शेरू के सिर से काफी खून बह गए था। सड़क पर खून के धब्बे देखकर यह संभावना है कि हमलवारों ने जान मारने की नियत से ही शेरू पर रॉड से प्रहार किया था।

जुआ और गेसिंग अड्डे के कारण हुई तीसरी मौत : जुआ अड्डा के कारण भद् पीटने के कारण पुलिस अब इस घटना को रंगदारी व जमीन विवाद से जोडऩे की तैयारी में है। जबकि पूरे क्षेत्र में इस बात की चर्चा है कि घटना जुआ अड्डा के विवाद के कारण घटी है। धनसार थाना क्षेत्र में 13 माह के अंदर जुआ और गेसिंग विवाद के कारण तीन लोगों की मौत हो चुकी है। पुलिस की मिलीभगत से क्षेत्र मे जुआ व गेसिंग अड्डा का संचालन किया जाता रहा है।

  • जुआ को लेकर हुई हत्याएं
  1. 21 अक्टूबर 2018 को झारखंड ऑफिस मनईटांड़ निवासी सत्येंद्र सिंह की पिटाई कुछ लोगों ने जुआ विवाद के कारण कर दी थी। बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।
  2. 30 जून 2019 को टिकियापाड़ा में गेङ्क्षसग विवाद को लेकर दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई थी। अर्स नामक जख्मी एक किशोर की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई थी।
  3. 27 नवंबर 2019को  जुआ विवाद को लेकर बरमसिया शनि मंदिर के पास वासेपुर के दबंग शेरू खान की पिटाई कुछ लोगों ने कर दी। उसकी भी मौत इलाज के दौरान दुर्गापुर अस्पताल में हो गई।

इकबाल, चिकू व शेर खान ने कराई शेरू की हत्याः शेरू खान की हत्या के पीछे फहीम खान का पुत्र इकबाल खान, भतीजा चिकू खान तथा भाई शेर खान का नाम आ रहा है। यह आरोप शेरू खान के काफी करीबी दोस्त सोनू ने धनसार थाने में लिखित शिकायत कर लगाई है। हालांकि सोनू की शिकायत से पूर्व पुलिस शेरू खान के भाई फेंकू के बयान पर पांच लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर चुकी थी। लिहाजा सोनू की शिकायत पर फिलहाल अनुसंधान जारी रखा है।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस