धनबाद, जेएनएन। बाबा नगरी देवघर को धनबाद, बोकारो और रांची से जोड़ने वाली रांची-देवघर इंटरसिटी गुरुवार से फिर पटरी पर लौट रही है। देवघर से इस ट्रेन को शुक्रवार से चलाने की घोषणा हुई है। स्पेशल के बहाने रेलवे ने इस ट्रेन के यात्रियों को फिर झटका दे दिया है। रांची-देवघर इंटरसिटी का किराया शताब्दी एक्सप्रेस से भी ज्यादा है। महंगे किराए के कारण ही पिछली बार चली ट्रेन खाली दौड़ रही थी। इस बार भी यात्रियों ने इस ट्रेन से मुंह मोड़ लिया है।

धनबाद से रांची तक सफर के लिए शताब्दी एक्सप्रेस के एसी चेयर कार का किराया 405 रुपये है जबकि देवघर-रांची इंटरसिटी से रांची पहुंचने के लिए 505 रुपये चुकाने होंगे। इतना ही नहीं धनबाद से बोकारो तक शताब्दी एक्सप्रेस के एसी चेयर कार का किराया 270 रुपये ही चुकाना होगा। पर इसी सफर के लिए रांची-देवघर इंटरसिटी का किराया 505 रुपये है।

गोमो और कुमारधुबी का किराया भी 505 रुपये

रांची-देवघर इंटरसिटी के एसी चेयर कार का न्यूनतम किराया ही 505 रुपये तय कर दिया गया है। रांची-देवघर से धनबाद से गोमो या देवघर-रांची इंटरसिटी से धनबाद से कुमारधुबी तक का किराया भी 505 रुपये है।

इस मामले को लेकर वरीय अधिकारियों से बात हुई है। उम्मीद है इसमें संशोधन होगा।

-अखिलेश पांडेय, सीनियर डीसीएम, धनबाद रेल मंडल 

मौर्य और वनांचल एक्सप्रेस से रांची जाना भी महंगा, स्लीपर का किराया दोगुना से ज्यादा

मौर्य एक्सप्रेस और वनांचल एक्सप्रेस से भी धनबाद से रांची जाना महंगा है। स्पेशल बन कर चल रहीं दोनों ट्रेनों में स्लीपर से सेकेंड एसी का किराया दूसरी ट्रेनों की तुलना में दोगुना से भी अधिक है। पर्व-त्योहार गुजरे महीनों हो चुके हैं। पर रेलवे ने किराए में बदलाव नहीं किया है। 

  • धनबाद से रांची
  •  मौर्य व वनांचल एक्सप्रेस का किराया
  •  स्लीपर - 385 रु
  • थर्ड एसी - 1050 रु
  • सेकेंड एसी - 1440 रु
  • अलेप्पी, दुमका इंटरसिटी और रक्सौल-हैदराबाद का किराया
  •  स्लीपर - 145 रु
  • थर्ड एसी - 505 रु
  • सेकेंड एसी - 710 रु

कोरोना काल में वैसे भी आम लोगों की आमदनी प्रभावित हुई है। रेलवे त्योहार स्पेशल ट्रेन के नाम पर किराए में बढ़ोतरी वापस ले।

-पिंटू सिंह, सदस्य, जेडआरयूसीसी, पूर्व मध्य रेल

 

Edited By: Mritunjay