संवाद सहयोगी, निरसा : चार-पांच दिनों से हो रही बारिश से एनएच 2 के किनारे देवियाना में एचडीएफसी बैंक चिरकुंडा शाखा प्रबंधक विशाल कुमार सिंह, कल्पना होटल, सतीश गोराई, संजय मंडल, कुणाल के घर और संजय कुमार व संदीप साव के मुर्गा फॉर्म में लगभग तीन फीट तक पानी जाम हो गया। मुर्गी फॉर्म में पानी प्रवेश कर जाने के कारण लगभग तीन हजार मुर्गे मर गए। 60 बोरा मुर्गा का चारा भी बर्बाद हो गया। संदीप साव व संजय कुमार को इससे तीन से चार लाख रुपए का नुकसान हुआ है।

घटना की सूचना पाकर निरसा सीओ नितिन शिवम गुप्ता पहुंचे और उन्होंने मुर्गी फॉर्म हाउस के संचालकों को आपदा प्रबंधन से मदद दिलवाने का आश्वासन दिया। ग्रामीणों ने बताया कि गोपालगंज बस्ती समीप निर्माणाधीन वाटर ट्रीटमेंट प्लांट व देवियाना मोड़ का सारा पानी एनएचएआइ के नाले से निकल कर खुदिया नदी में जाता था। वर्तमान समय पानी निकासी के बगल में पेट्रोल पंप और उसके पीछे चारदीवारी का निर्माण कर दिया गया है। हालांकि, पेट्रोल पंप मालिक द्वारा पानी निकासी के लिए अपनी जमीन पर नाला भी बनाया गया है। उस नाले से जितना पानी निकलना चाहिए वो नहीं हो पा रहा है। इसके कारण हमलोगों के घरों व मुर्गा फॉर्म में वर्षा का पानी घुस गया। बरसात का पानी घुस जाने से कुणाल के घर की चारदीवारी गिर गई। मुर्गा फॉर्म हाउस के संचालक संजय कुमार व संदीप साव ने बताया कि गुरुवार की रात से शुक्रवार की सुबह तक हुई बारिश व व पानी निकासी में अवरोध उत्पन्न होने के कारण फॉर्म हाउस में पानी प्रवेश कर गया। इसके कारण तीन हजार मुर्गे पानी में डूब कर मर गए। इससे चार लाख का नुकसान हुआ है।

घटना की सूचना पाकर सीओ नितिन शिवम गुप्ता घटनास्थल पर पहुंचे और ग्रामीणों व पेट्रोल पंप मालिक की वार्ता करवाई। दोनों पक्षों ने आपस में वार्ता कर रास्ता निकालने का आश्वासन दिया है।

Edited By: Jagran