धनबाद, जेएनएन। वाराणसी से दिल्ली के बीच दौड़ रही टे्रन-18 यानी वंदे भारत एक्सप्रेस की सवारी जल्द ही देश के अन्य हिस्से के मुसाफिर भी कर सकेंगे। रेलवे 150 नयी वंदे भारत एक्सप्रेस को पटरी पर उतारेगी।

मंगलवार को रेलमंत्री पीयूष गोयल और रेलवे बोर्ड चेयरमैन वीके यादव की देशभर के सभी जीएम और डीआरएम के साथ हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में इस प्रोजेक्ट पर विस्तृत चर्चा हुई। वीडियो कांफ्रेंसिंग में पूर्व मध्य रेल महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी और धनबाद डीआरएम अनिल कुमार मिश्रा भी शामिल थे।

इस दौरान वित्तीय वर्ष 2019-20 के लक्ष्य पर विस्तृत चर्चा हुई। बोर्ड स्तर पर रेल महाप्रबंधकों से लक्ष्य पूरा करने के दौरान आनेवाली समस्याओं की जानकारी मांगी गई। साथ ही यह भरोसा भी दिया गया कि रेलवे बोर्ड स्तर पर उन सभी समस्याओं का समाधान होगा। सभी जोन के महाप्रबंधक और मंडलों के डीआरएम को लोडिंग दोगुणा करने का सुझाव दिया गया।

रेलवे की आय बढ़ाने और खास तौर पर नॉन फेयर रेवेन्यू यानी यात्री आय से इतर आमदनी इस बातचीत के फोकस एरिया में रहा। रेलवे बोर्ड स्तर पर कहा गया कि देशभर में रेलवे की खाली जमीन का उपयोग आय के स्रोत के तौर पर करने का प्लान तैयार किया जाए। रेलवे लाइन का विस्तार, विद्युतीकरण, दोहरी और तिहरीकरण को गति देने की  बात कही गई।

भीड़भाड़ वाले स्टेशनों पर एटीएम लगाएगी रेलवे : नॉन फेयर रेवेन्यू बढ़ाने के लिए धनबाद रेल मंडल ने प्लानिंग शुरू कर दी है। इसके तहत भीड़भाड़ वाले रेलवे स्टेशनों पर एटीएम लगाए जाएंगे। इससे किराए के तौर पर रेलवे की आमदनी बढ़ेगी।

Posted By: mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप