धनबाद, जेएनएन। स्वच्छ भारत मिशन के तहत रेलवे स्टेशनों की स्वच्छता रैंकिंग तैयार करने की कवायद शुरू हो गई है। 15 अगस्त के बाद क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया (क्यूसीआइ) की ओर से सर्वे शुरू होगा। सर्वे रिपोर्ट के आधार पर देश भर के रेलवे स्टेशनों की स्वच्छता रैंकिंग जारी की जाएगी। इससे पहले बुधवार को बुधवार को केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड के पर्यावरण अभियंता सह नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के प्रतिनिधि जीपी सिंह ने धनबाद स्टेशन का निरीक्षण किया।

रेलवे स्टेशनों का तीसरी बार सर्वे होने जा रहा है। 15 अगस्त के बाद कभी भी क्यूसीआई की टीम स्टेशनों पर पहुंच सकती है। सर्वे के तहत यात्री सुविधाओं खासकर शौचालयों की स्थिति पेयजल वाले स्थान की सफाई, प्लेटफार्म, टिकट काउंटर वाले स्थान, वेटिंग हॉल की कंडीशन आदि को देखा जाएगा। यही नहीं टीम के सदस्य यात्रियों से भी सफाई के बारे में फीडबैक लेंगे। इसके बाद रिपोर्ट तैयार कर रेल मंत्रालय को भेजी जाएगी। इसके बाद उसके परिणाम घोषित किए जाएंगे। एनजीटी के प्रतिनिधि ने धनबाद रेलवे स्टेशन पर कचरा निष्पादन व्यवस्था का जायजा लिया। डंपिंग जोन की व्यवस्था देखी। इसके साथ ही नगर निगम के कचरा निष्पादन बंदोबस्त की भी जानकारी ली। रेल अधिकारियों से कहा कि कचरा डंपिंग स्थल पर शेड का निर्माण कराए। कोचिंग डिपो में रेन वाटर हार्वेस्टिंग और वाटर री साइकिलिंग के निर्माण की जानकारी ली।

सिंह ने धनबाद स्टेशन को पर्यावरण संरक्षण के लिए मिले आईएसओ सर्टिफिकेट की जांच की। रेलवे की ओर से किये गए उपायों के बारे में भी पूछताछ की। उनके साथ एडीआरएम अशोक कुमार समेत अन्य अधिकारी शामिल थे।

 

Posted By: mritunjay