निरसा, जेएनएन। निरसा के जेडी मेमोरियल स्कूल के निदेशक मंटू पद दास (45 वर्ष) ने छात्रावास में रहने वाली छात्राओं के साथ अश्लील हरकत की। यह मामला सरस्वती पूजा के दौरान का है। सरस्वती पूजा के लिए स्कूल परिसर को सजा रही एक एक छात्रा को निदेशक ने कमरे में बुलाया, अश्लील वीडियो दिखाया, फिर गलत हरकत करने का प्रयास किया। धमकी भी दी कि किसी से कहा तो ठीक नहीं होगा। छात्राओं ने इसकी शिकायत अभिभावकों से की। शुक्रवार को अभिभावकों ने आकर निदेशक से गलत काम करने के बारे में पूछताछ की। निदेशक हकलाने लगे तो अभिभावकों ने जमकर मिजाजपुर्सी की। निरसा पुलिस ने आकर निदेशक को हिरासत में लिया। एक छात्रा ने निदेशक मंटू पद दास के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। शनिवार को निदेशक मंटू पद दास को धनबाद जेल भेज दिया गया। 

जेडी मेमोरियल पब्लिक स्कूल में छात्रावास है। छात्र और छात्रा के लिए अलग अलग भवन। पीडि़त छात्राओं ने निरसा थाना में पुलिस को बताया कि वे लोग 9 फरवरी को स्कूल परिसर में सरस्वती पूजा के लिए तैयारी कर रही थी। निदेशक आए। एक एक छात्रा को अलग कमरे में बुलाए। उन्हें मोबाइल पर अश्लील वीडियो दिखाया। वीडियो दिखाने के दौरान अश्लील हरकत करते रहे। आपत्ति करने पर निदेशक बोले कि उनकी मर्जी के मुताबिक काम किया तो आगे सब कुछ अच्छा होगा। निरसा पुलिस से छात्राओं ने बताया कि निदेशक ने पहले भी कुछ छात्राओं के साथ अश्लील हरकत की थी। छात्राओं को डरा दिया था। इसलिए उन लोगों ने मुंह नहीं खोला। दोबारा गलत काम किया तो उन लोगों ने अभिभावकों से शिकायत करने का फैसला लिया।

अभिभावक आए तो प्राचार्य ने प्रयोगशाला में बना दिया बंधकः छात्राओं की शिकायत पर शुक्रवार को उनके अभिभावक स्कूल आए। छात्राओं ने पुलिस से शिकायत की कि अभिभावकों के आने की बात सुन कर प्राचार्य चिन्मय चक्रवर्ती, शिक्षक राजू मंडल, जीतेन कुमार दास एवं सुचित्रा तिवारी ने छात्राओं को प्रयोगशाला में बंधक बना दिया। वे लोग चाहते थे कि अभिभावकों के आने पर हम लोग नहीं मिल सके। टिफिन टाइम में सभी छात्राएं किसी तरह प्रयोगशाला से बाहर निकली। अभिभावकों से मिली। 

45 साल के निदेशक ने कक्षा दो की छात्राओं से भी किया गलतः जेडी मेमोरियल पब्लिक स्कूल के निदेशक मंटू पद दास की उम्र 45 साल है। उसने सरस्वती पूजा के दौरान कक्षा दो की छात्राओं के साथ भी गलत हरकत की। निरसा पुलिस से छात्राओं ने कहा कि इस आदमी को शर्म नहीं आती, न अपनी उम्र देखता है। अगर वे लोग मुंह नहीं खोलती तो बहुत लड़कियों को बर्बाद करता।

अभिभावकों के डर से टिफिन टाइम में कर दी छुट्टीः जेडी मेमोरियल पब्लिक स्कूल के निदेशक को अभिभावकों के गुस्से से बचाने का स्कूल प्रबंधन ने प्रयास भी किया। अभिभावकों के आने की सूचना मिली तो टिफिन टाइम में स्कूल की छुïट्टी कर दी गई। मकसद था कि पीडि़त छात्राओं के अभिभावक स्कूल में आकर हो हल्ला करते हैं तो दूसरे अभिभावकों को इसका पता नहीं चले। इसी कारण टिफिन टाइम में स्कूल में अचानक छुट्टी कर दी गई। 

आरोप झूठे हैं। जिन छात्राओं ने आरोप लगाया है, उन पर हॉस्टल और ट्यूशन फीस बकाया है। गहरी साजिश की गई है। फंसाया गया है। 

-मंटू पद दास, निदेशक, जेडी मेमोरियल पब्लिक स्कूल

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021