धनबाद : 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी धनबाद की जनता से तीन प्रमुख वादे किए थे-सिंदरी खाद कारखाना चालू करना, आइएसएम को आइआइटी का दर्जा देना और झरिया कोयलांचल के अग्नि प्रभावितों का बेहतर ढंग से पुनर्वास। प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने पहले आइएसएम को आइआइटी बनाने का वादा पूरा किया। वह शुक्रवार को सिंदरी खाद कारखाना खोलने का भी वादा पूरा करने बलियापुर आ रहे हैं। लेकिन, झरिया पुनर्वास बड़ा सवाल बना हुआ है। करीब 1 लाख परिवारों के पुनर्वास लेकर नरेंद्र मोदी सरकार के अधिकारियों की नीति स्पष्ट नहीं है। ऐसे में सवाल उठता है कि शुक्रवार को क्या प्रधानमंत्री झरिया पुनर्वास पर बोलेंगे?

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021