धनबाद : आपके घर की मुंडेर पर पक्षियों की चहचहाहट फिर से सुनाई देगी। आंगन या घर की छत पर इनके लिए दाने का प्रबंध होगा। पक्षियों का कलरव आपको सुनाई देता रहे, इसका बीड़ा 250 युवाओं ने उठाया है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के युवा 'संवेदना' कार्यक्रम के तहत पक्षी बचाओ मुहिम से जुड़ रहे हैं। जिले के सभी नगर इकाइयों के कार्यकर्ता अपने अपने घरों में रहते हुए पक्षियों के लिए दाने और पानी से भरे हुए पात्र घर की मुंडेर, आगन एवं वृक्षों पर रख रहे हैं। धनबाद शहर, कतरास, निरसा, गोविंदपुर, बलियापुर, मैथन आदि युवा जुड़े हैं। संवेदना के साथ हर दिन नए लोग जुड़कर पक्षियों के लिए दाना-पानी की व्यवस्था कर रहे हैं। विद्यार्थी परिषद के विभाग संगठन मंत्री राजीव रंजन, प्रांत सह छात्रा प्रमुख आयुषी गुप्ता और नगर मंत्री अंशु तिवारी ने बताया कि मिट्टी से बने सकोरे में अन्न एवं जल चिड़ियों के लिए हर दिन रखा जा रहा है। अभी तक 250 युवा ऐसा कर रहे हैं। आने वाले दिनों में इस कार्य से एक हजार युवा जुड़ जाएंगे। ये युवा बने पुण्य के भागीदार - धनबाद महानगर : विभाग संयोजक अमन अभिषेक, सुमित कुमार, निहारिका सिंह, सचिन दुबे, शिवम सिंह, अमन गुप्ता, ऋषभ सिंह, आकाश सिंह, स्नेहिल कुमार, प्रतीक सिंह, सिंटू कुमार, अभिषेक सिंह, रानी सिंह, उमा भारती, अंकिता कुमारी, प्रीति झा, पिंकी सिंह। - कतरास : सहदेव रवानी - गोविंदपुर : रामानुज घाटी - निरसा : सोनू कुमार - मैथन मनोरंजन, निवास मंडल। इन इलाकों में दिया जा रहा दाना-पानी धनबाद कतरास निरसा गोविंदपुर बलियापुर मैथन इस कार्यक्रम का उद्देश्य हमारी उस पुरानी संस्कृति को जागृत करना है, जिसमें किसान अन्न उपजाने के बाद चिड़ियों के लिए घरों के मुंडेर पर दाना पानी रखा करते थे। यह परंपरा पाश्चात्य अंधानुकरण में न जाने कहां खो सी गई है। - शिवम सिंह, महानगर सह मंत्री अभाविप संवेदना कार्यक्रम को आम छात्रों एवं समाज के बीच में ले जाने के लिए अभाविप ने पहल की है, ताकि भविष्य में एक संवेदनशील समाज का निर्माण हो सके। - आयुषी गुप्ता, प्रात सह छात्रा प्रमुख अभाविप धनबाद में इस कार्यक्रम को विद्यार्थी सहजता के साथ कर रहे हैं। हम सभी मिलकर भारत में संवेदनशील समाज का निर्माण करने के लिए कटिबद्ध हैं। - अंशु तिवारी, धनबाद महानगर मंत्री अभाविप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस