जागरण संवाददाता, धनबाद: बीसीसीएल में 38 हजार कोयला कर्मियों को तनावमुक्त करने को लेकर कसरत की जा रही है। कोयला नगर, अन्‍नपूर्णा हाॅल बीसीसीएल में आनंदमय जीवन के माध्यम से इसकी शुरुआत की गई। तनाव प्रबंधन पर कोयला अधिकारियों व कर्मचारियों को कार्यशाला के माध्यम से इसकी जानकारी दी गई।

शुक्रवार को आयोजित इस कार्यशाला में बीसीसीएल के 50 से अधिक अधिकारियों व कर्मचारियों ने हिस्‍सा लिया। इसमें पहले चरण में वैसे अधिकारियों को शामिल किया गया था, जो अपने कार्यक्षेत्र में काफी तनाव महसूस करते है। उन्हें तनाव दूर करने और चुनौतियों से हंसकर जूझने के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।

कार्यशाला के सूत्रधार राजीव कुमार नायर ने विशेष रूप से वर्तमान समय में योग और ध्यान के संतुलन के माध्यम से जीवन शैली प्रबंधन के महत्व पर जोर देते हुए सत्रों का नेतृत्व किया। उन्होंने प्रतिभागियों को सुखदायक ध्यान के साथ-साथ विभिन्न मजबूत योग मुद्राएं सिखाईं, जो मन, शरीर और आत्मा के लिए एक संभावित कायाकल्प के रूप में कार्य करेगा।

बीसीसीएल के वरीय सलाहकार पीवीआरकेएम राव ने बताया कि हर किसी के जीवन में किसी ने किसी रूप में तनाव है। उस तनाव के कारण लोग बीमार हो रहे हैं। तनावमुक्त रहेंगे, तभी वे सकारात्मक विचार का अदान प्रदान करेंगे। जब सकारात्मक सोच आएगी तो इसका असर परिवार के साथ साथ संस्थान में भी दिखेगा। शुक्रवार देर शाम कार्यशाला संपन्न हुई।

बीसीसीएल प्रबंधन ने हर एरिया में तनाव मुक्ति को लेकर कार्यशाला का आयोजन करने का विचार किया है, ताकि कर्मचारियों व अधिकारियों को इसका लाभ मिल सके। इसमें योग गुरु को भी बुलाया जाएगा, जो हर दिन होने वाली परेशानियों से कैसे मुक्ति मिले, इस पर जानकारी देंगे। राव ने बताया कि इसको लेकर हर एरिया को दिशा निर्देश दिया जा रहा है।

Edited By: Deepak Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट