प्रेम का शव नीमटांड़ पहुंचते ही छाया मातम

बलियापुर : कुसमाटांड़ नीमटांड़ टोला में बुधवार की शाम 22 वर्षीय प्रेम कुमार रवानी की लाश पोस्टमार्टम के बाद गांव लाए जाने पर मातम छा गया। प्रेम की लाश को देखकर स्वजन दहाड़ मार मारकर रोने लगे। मृतक की मां कमला देवी, बहन कंचन कुमारी के अलावा वृद्ध दादा मदन रवानी, दादी लतिका रवानी रो रोकर बेहाल हो गए। मृतक अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र था। प्रेम के पिता बंशीधर रवानी की मौत दो साल पूर्व बीमारी से हो चुकी है। घर में मां के अलावा दादा-दादी व एक बहन है। बड़ी बहन की शादी हो चुकी है। मालूम हो कि प्रेम-प्रसंग के मामले में मंगलवार की देर शाम प्रेम की हत्या हो गई थी।

घटना को लेकर मार्क्सवादी युवा मोर्चा के कार्यकारी केंद्रीय अध्यक्ष जगदीश रवानी, मासस के युवा नेता बबलू महतो, निर्वतमान मुखिया मधुसूदन डे, मनबोध रवानी, सुनील महतो, भाजपा नेता धर्मजीत सिंह, अल्पना मुखर्जी आदि ने शोक व्यक्त किया है। मृतक प्रेम के चाचा दारकू रवानी की ओर से भतीजा प्रेम की हत्या के बाद बलियापुर थाना प्रभारी को दिए गए आवेदन को बलियापुर के पुलिस अधिकारी ने आगे की कार्रवाई के लिए धनसार थाना प्रभारी को अग्रसारित कर दिया है। क्योंकि घटना धनसार थाना क्षेत्र का है। स्वजनों ने गांव के श्मशान घाट में प्रेम का अंतिम संस्कार किया। इस दौरान कुसमाटांड़ और नीमटांड़ टोला के अनेक लोग शामिल हुए।

Edited By: Jagran