बाघमारा: प्रखंड कार्यालय से सटे लुतिपहाडी पंचायत सचिवालय में क्वारंटाइन में रहने वाले प्रवासियों ने समय पर खाना व जरूरी समान नहीं मिलने पर रविवार को हंगामा किया। जिसे देख प्रवासियों के परिजन भी सचिवालय के बाहर जमा हो गए। वे भी सुविधाओं की कमी को लेकर आक्रोशित थे। प्रवासियों तथा उनके परिजनों का कहना था कि 15 दिनों से उनलोगों को यहां लाकर रख दिया गया है, ना तो पंचायत कोई सुविधा दी जा रही है ना ही खाना दिया जा रहा है। मुखिया भी उनकी सुध नहीं ले रहे हैं। बार-बार कहने के बाद भी मुखिया ने रहने खाने की व्यवस्था नहीं की। आठ लोग यहां क्वारंटाइन पर है, लेकिन तीन ही बेड लगाए गए हैं। पांच लोग जमीन में सो रहे हैं। साफ- सफाई की कोई व्यवस्था नहीं, सैनिटाइजर का पता नहीं, हाथ धोने के लिए साबुन तक नहीं दिया गया है। क्वारंटाइन पर एक ही परिवार के चार लोग रह रहे हैं। इनके परिजन मो. रफीक ने कहा कि 15 दिन बीत जाने के बाद भी जांच रिपोर्ट नहीं आई है। मुखिया से कहने पर जवाब दिया जाता है कि अपना पैसा खर्च कर धनबाद से रिपोर्ट ले आइये। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक व्यवस्था फेल रहने के कारण वे लोग घरों से खाना लाकर देते हैं। हंगामा की खबर पाकर सामाजिक कार्यकर्ता मो. तबरेज ने प्रवासियों के लिये भोजन की व्यवस्था करवाया। मुखिया नरेश गुप्ता से संपर्क करने पर उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस