संवाद सहयोगी, तिसरा/लोदना (धनबाद) : महिलाओं को स्वावलंबी बनाकर उन्हें रोजगार से जोड़ना ही महिला मंडल का मकसद है। शिक्षा के साथ उन्हें रोजगार भी जरूरी है। उक्त बातें भारत कोकिंग कोल लिमिटेड के सीएमडी एके ¨सह की पत्नी सह महिला मंडल की अध्यक्ष इंदु ¨सह ने मंगलवार को मां रक्षा काली धाम नार्थ तिसरा में कही। इंदु ने यहां महिलाओं के लिए सिलाई, चूड़ी व अगरबत्ती प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन किया। मुकुंदा स्वावलंबी स्वरोजगार सोसाइटी का भी निरीक्षण किया। झारक्राफ्ट के सहयोग से महिलाओं को सूत की बुनाई का यहां प्रशिक्षण दिया जाता है। बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम पेश कर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। चंदा कुमारी, रीना देवी, सोनी कुमारी व कंचन कुमारी यहां प्रशिक्षण देंगी। ब्यूटीशियन प्रशिक्षण केंद्र भी जल्द खोला जायेगा। इंदु ने मंडल की पदाधिकारियों के साथ लोदना रक्षाकाली धाम मे पूजा-अर्चना की। जयंती गांगुली, उमा राजशेखर, रश्मि महापात्रा सरोज त्रिपाठी, मंजू ¨सह, सुशीला चंद्रा, ए चटर्जी, आशा दुबे, शीला द्विवेदी, सीमा प्रसाद, पूनम ¨सह, सोमा राय, ज्योतिर्मय नायक, मीना पांडेय, लोदना जीएम कल्याणजी प्रसाद, सत्येन्द्र ¨सह, यूके ¨सह, रामचंद्र पासवान, चंद्रिका राय, उत्तम माजी, एके पांडेय, एमके पांडेय, सुनील मोदक, नेपाल चंद्र महतो थे।

जीएम को महिलाओं ने घेरा :

तिसरा : तीन साल पूर्व नार्थ तिसरा परियोजना विस्तारीकरण के दौरान मां रक्षा काली धाम में बसाई गई महिलाओं मुन्नी देवी, मीरा, कलावती ने जीएम कल्याणजी प्रसाद को घेरा। कहा कि यहां पानी और सफाई की व्यवस्था नहीं है। बारिश में पानी घर में घुसता है। प्रबंधन ने हमलोगों को बसाया। कोई रोजगार भी यहां नहीं है। समस्याओं का समाधान करें। नार्थ तिसरा में बीसीसीएल के अनुदानित स्कूल के प्रधानाध्यापक अशोक श्रीवास्तव ने कहा स्कूल में शौचालय की सुविधा नहीं है। इससे बच्चों को परेशानी होती है। जीएम ने कहा कि समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप