धनबाद, जेएनएन। धनबाद कोचिंग डिपो में शुक्रवार को हुई घटना में चालक की लापरवाही उजागर हुई है। इस मामले में उसे चार्जशीट किया गया है। शनिवार को घटना के जांच की जॉइंट रिपोर्ट डीआरएम को सौंपी गई। जिसमें बताया गया है कि लुधियाना एक्सप्रेस के एलएचबी रैक को चालक वाशिंग पीठ में जाकर ब्रेक लगाना भूल गया, जिससे वहां पहले से खड़ी ट्रेन से टक्कर हो गई और चार कोच बेपटरी हो गये।

दरअसल, धनबाद से फिरोजपुर जाने वाली गंगा सतलज एक्सप्रेस (लुधियाना एक्सप्रेस) के एलएचबी रैक को चालक मोहम्मद जाकिर हुसैन वाशिंग पीठ पर ले जा रहा था। वहां पहुंचने के बावजूद लोको चालक ब्रेक लगाना भूल गया, जिससे वहां पहले से खड़ी ट्रेन से टक्कर हो गई और चार कोच उछल कर वापस पटरी पर गिर गये। इस घटना के कारण पटरी भी क्षतिग्रस्त हुई। घटना के बाद डिपो में कार्य ब्लॉक हो गया। इस दुर्घटना में कोचिंग पेट में काम कर रहे कर्मचारियों के भी चोटिल होने की सूचना है। हालांकि, रेलवे इससे इन्कार कर रही है।

टेक्नीशियन ने शोर नहीं मचाया होता तो बिछ जाती लाशें : कोचिंग पीट की ओर तेजी से बढ़ते ट्रेन को देखकर वहां मौजूद टेक्नीशियन ने शोर मचा दिया था। उसके शोर मचाते ही वहां काम करने वाले कर्मचारी अपनी-अपनी जान बचाकर कूद-कूद कर भाग खड़े हुए थे। अगर ऐसा नहीं हुआ होता तो वहां लाशें बिछ जाती। प्रत्यक्षदर्शी रेल कर्मियों के अनुसार, लुधियाना एक्सप्रेस के चार डिब्बों के उछलकर पटरी पर गिरने से लगभग दो दर्जन लोग उसकी चपेट में आ सकते थे, जिससे बड़ी दुर्घटना हो सकती थी।

एक किलोमीटर दूर से सुनाई दी थी आवाज : धनबाद कोचिंग डिपो में शुक्रवार की सुबह ट्रेनों में टक्कर की आवाज जोरदार धमाके के साथ हुई थी। आवाज इतनी जोरदार थी कि लगभग एक किलोमीटर दूर तक उसे सुना गया था। 

चालक पर होगी विभागीय कार्रवाई : धनबाद रेल पीआरओ पीके मिश्रा ने कहा कि कोचिंग डिपो में शुक्रवार को हुए रेल हादसे की जांच रिपोर्ट डीआरएम को दी गई है। घटना में चालक की लापरवाही उजागर हुई है। उसे चार्जशीट दी गई है। विभागीय कार्रवाई की जा रही है।

कई घंटे रहा डिपो में कार्य ब्लॉक : दरअसल, ट्रेन को सुबह मेंटनेंस के लिए संटिंग कर प्लेटफॉर्म से ले जाया जा रहा था। तभी हादसा हो गया। प्रथम दृष्टया यह बात सामने आई कि संटिंग के दौरान ट्रेन की स्पीड ज्यादा थी, जिस वजह से यह हादसा हुआ। उधर, घटना के बाद डिपो में कार्य ब्लॉक हो गया। ब्लैक डायमंड एक्सप्रेस को दो नंबर प्लेटफॉर्म से बिना मेंटेनेंस के छोड़ दिया गया। वहीं, अल्लेप्पी एक्सप्रेस भी पांच नंबर प्लेटफॉर्म पर फंसी रही।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस