धनबाद, जागरण: जमीन कारोबारी अजय पासवान की सोमवार को एक रिसेप्शन पार्टी में सैकड़ों लोगों के सामने गोली मार कर हत्या कर दी गई। धनबाद में यह पहली बार नहीं हुआ है। आज से ठीक 11 साल पहले दिसंबर 2011 को धनबाद क्लब में एक रिसेप्शन पार्टी में धनबाद के कोल किंग कहे जाने वाले सुरेश सिंह की हत्या सबके सामने गोली मार कर दी गई थी।

सुरेश सिंह की हत्या के 11 साल बाद भी आरोपी शशि सिंह फरार

सुरेश सिंह धनबाद में कांग्रेस के फाइनेंसर भी कहे जाते थे। हत्या के 11 साल बाद भी पुलिस हत्या के मुख्य आरोपी शशि सिंह की गिरफ्तारी नहीं कर पाई है। शशि सिंह ने फरारी के दौरान शादी की और इस दौरान उसे तीन बच्चे भी हुए। उसका धनबाद में दिखाई देना सामान्य बात है, लेकिन पुलिस आरोपी शशि सिंह को अब तक पकड़ नहीं पाई है। बीच-बीच में सूचना मिलने पर पुलिस छापेमारी जरूर करती है लेकिन वह सिर्फ खानापूर्ति होती है।

धनबाद के कोयला व्यवसाय में शशि सिंह

इन दिनों धनबाद के कोयला व्यवसाय में भी शशि सिंह की एंट्री हो चुकी है। झरिया क्षेत्र से उसका व्यापार चलने लगा है। हालांकि शशि अपने व्यापार के कारण किसी को नुकसान नहीं पहुंचा रहा है। इस कारण इनका नाम सामने नहीं आ पा रहा है। पुलिस सूत्रों की मानें को उन्हें इस बात की जानकारी है मगर शशि सिंह कहां बैठ कर अपना कारोबार चला रहा है। यह पुलिस को नहीं पता चल पा रहा है।

यह भी पढ़ें- Jamshedpur: ऑनलाइन गेमिंग के नशे में पहले बेटी की हत्‍या, फिर खुद की ली जान

Edited By: Mohit Tripathi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट