धनबाद, जेएनएन। कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के रेप इन इंडिया (Rape in India) वाले बयान को लेकर झारखंड भाजपा महिला मोर्चा (BJPMM Jharkhand) ने राज्य चुनाव आयोग के आयुक्त को ज्ञापन सौंपा। साथ ही झारखंड में चुनावी प्रचार पर रोक लगाने की मांग की। कहा कि कांग्रेस सांसद के इस बयान से राष्ट्रीय पटल पर भारत की छवि को धूमिल करने का नाकाम प्रयास किया गया है।

वहीं, शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की अगुवाई में भाजपा महिला सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग पहुंचकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष के खिलाफ बलात्कार को लेकर किए टिप्पणी पर कठोर कार्रवाई की मांग की। स्मृति ने आरोप लगाया कि राहुल झारखंड चुनाव में महिलाओं के खिलाफ हो रहे बलात्कार का राजनीतिक इस्तेमाल कर रहे हैं।

स्मृति ईरानी सहित भाजपा की महिला सांसदों ने की माफी की मांग

इससे पहले संसद के निचले सदन में बीजेपी सांसदों ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर जमकर हंगामा किया। खास तौर पर भाजपा की महिला सांसदों ने राहुल गांधी से माफी की मांग की। स्मृति ईरानी ने कहा कि एक पार्टी का नेता सार्वजनिक तौर पर कलेरियन कॉल देता हो कि भारत में महिलाओं का बलात्कार होना चाहिए। ये देश के इतिहास में पहली बार हुआ।

राहुल गांधी ने क्या कहा?

गोड्डा में गुरुवार को चुनावी सभा में राहुल गांधी ने कहा था, "पीएम मोदी ने कहा था कि मेक इन इंडिया होगा। हमने सोचा कि अखबारों में मेक इन इंडिया दिखाई देगा, लेकिन आज जब हम अखबार खोलते हैं तो हमें सब जगह रेप इन इंडिया दिखाई देता है। झारखंड में महिला से बलात्कार, यूपी में भाजपा विधायक ने महिला का रेप किया। उसके बाद गाड़ी से एक्सीडेंट हो गया। नरेंद्र मोदी एक शब्द नहीं बोलते।"

राहुल का माफी मांगने से इनकार

उधर, दिल्ली में शनिवार को कांग्रेस की देश बचाओ रैली में राहुल गांधी ने मोदी सरकार और भाजपा पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा मेरे भाषण को लेकर माफी मांगने को कह रही, लेकिन मैं माफी नहीं मांगूंगा। सावरकर का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, "मैं मर जाऊंगा, लेकिन माफी नहीं मांगूगा। मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है राहुल गांधी है।"

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस