संस, जामाडोबा : आद्रा डिवीजन अंतर्गत भागा रेलवे फाटक पर ओवरब्रिज निर्माण कार्य बंद होने से नाराज लोगों, दुकानदारों ने सड़क खोलने की मांग को लेकर गुरुवार को कांग्रेस के बैनर तले धरना दिया। आंदोलन का नेतृत्व कर रहे प्रदेश कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य शमशेर आलम ने कहा कि रेलवे व जिला प्रशासन ने फुसबंगला-जामाडोबा सड़क पर रेलवे फाटक के पास ओवरब्रिज निर्माण कार्य बिना डीपीआर तैयार किए शुरू कर दिया। नतीजा यह हुआ कि दो अप्रैल को सड़क किनारे खुदाई के दौरान झमाडा का 18 इंच पाइप लाइन मिलने से काम रोक दिया गया। छह अप्रैल को झमाडा व रेलवे के अधिकारियों ने कार्य स्थल का दौरा किया था। झमाडा के अधिकारियों से सहमति बनी थी कि दो माह के अंदर पाइप शिफ्टिग का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद कार्य को रोक दिया गया। कोरोना महामारी काल मे क्षेत्र के सैकड़ों दुकानदारों का रोजगार चौपट हो गया। सड़क बंद कर दिए जाने से जामाडोबा, जीतपुर, रमजानपुर, शास्त्री नगर, तिवारी बस्ती सहित टाटा अस्पताल आने-जाने वाले लोगों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। दो माह से अधिक बीतने के बाद भी पाइप की शिफ्टिग नहीं हो पाई है। जानकारी पाकर धरना स्थल पर जोड़ापोखर थाना के अधिकारी व झरिया के सीआइ श्याम लाल मुर्मू पहुंचे। लोगों ने सीआइ को मांग पत्र सौंपा। सीआइ ने आश्वासन दिया कि उच्च अधिकारी को इस बात से अवगत कराएंगे। इसके बाद धरना समाप्त हुआ। मौके पर शिव बालक पासवान, फैयाज अहमद, बीरेंद्र गुप्ता, राकेश सिंह, मुन्नीलाल राम, इम्तियाज आलम, पिटू तूरी, बाले यादव आदि थे।

Edited By: Jagran