धनबाद, जेएनएन। झारखंड में भाजपा स्कूलों को बंद कर शराब बेचने का काम कर रही है, जबकि झामुमो शराब बांट रही है। वहीं, दूसरी ओर जदयू ने बिहार में शराब बंदी कर नए कीर्तिमान स्थापित किया है। झारखंड में यदि जदयू की सरकार बनी तो हंडिया दारू बेचने वाले परिवारों को दो साल तक प्रत्येक वर्ष दस हजार रुपये मासिक भत्ता देगी। यह बातें झारखंड प्रदेश जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने कही।

सालखन मुर्मू गुरुवार को गांधी सेवा सदन में कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास अपनी जन सभाओं में सोरेन परिवार पर सैकड़ों एकड़ जमीन हड़पने का आरोप लगा रहे हैं। यदि यह सत्य है तो उन्हें सोरेन परिवार के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि झारखंड में भाजपा और झामुमो की बीच आपसी साठगांठ है। दोनों दल एक-दूसरे पर बस आरोप लगाते हैं, कार्रवाई नहीं करते।

झारखंड में भी नीतीश मॉडल स्थापित करेगा जदयू

जदयू प्रेदश अध्यक्ष ने कहा कि दोनों दल राज्य में सरकार चलाने में नाकारा साबित हो चुके हैं। इसलिए अब स्वच्छ और सशक्त विकल्प केवल जदयू ही बन सकती है। उन्होंने कहा कि जदयू झारखंड में भी नीतीश मॉडल स्थापित करने का काम करेगी। हालांकि, बिहार में नीतीश मॉडल की अब तक की क्या-क्या उपलब्धियां रही ये नहीं बताया?

झारखंड विधानसभा चुनाव की रणनीति पर हुई चर्चा

इससे पूर्व पार्टी पदाधिकारियों के साथ संपन्न हुई बैठक में विभिन्न जन मुद्दों को लेकर 21 अक्टूबर को जिला मुख्यालय पर धरना देने और 22 अक्टूबर को गोविंदपुर एवं तोपचांची में जनसभा आयोजित करने की सहमति बनी। आमसभा में जदयू संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह, प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू, झारखंड प्रभारी रामसेवक सिंह, अरूण कुमार आदि शामिल होंगे।

Posted By: Sagar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप