जागरण संवाददाता, धनबाद। डायबिटीज हो या दस्त या अन्य कोई और बीमारी। इन सबसे बचने में बड़े काम आता है मेथी। जिसे हम चाहे सब्जी के रूप में खाये या फिर इसका लड्डू। हमारे देश में मेथी किसी न किसी रूप में इस्तेमाल की जाती है। इसका कारण है वह औषधिय गुण  जो कई तरह के रोग घर बैठे ही ठीक कर देती है। इसमें मौजूद बहुत सारे विटामिन्स और मिनरल्स मौजूद होते हैं। यह दवाई से लेकर कॉस्मेटिक तक, हर तरह के घरेलू नुस्खे के रूप में काम आती है। सुबह उठकर सबसे पहले मेथी के दाने का पानी पीने से शरीर के दूषित तत्व बाहर निकल जाते हैं। साथ ही, डायबिटीज और कब्ज जैसी समस्याएं कंट्रोल में रहती हैं।

मेथी का पानी बनाना बहुत आसान

मेथी का पानी बनाने का तरीका भी बहुत ही सरल है। जिसके कारण महज 10 मिनट में बनाया जा सकता है। आप एक से डेढ़ चम्मच मेथी के दानों को रात में ही पानी में भिगो दें। सुबह उठकर इस पानी को अच्छी तरह छान लें। फिर इसे खाली पेट पी जाएं। बचे हुए मेथी दानों को फेंकने की जगह बाद में खा भी सकते हैं। ऐसा करने से जल्द ही मधुमेह नियंत्रित हो जाता है। ध्यान रखें, मेथी गर्म होती है इसलिए गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन डाक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।

मेथी के पांच प्रमुख गुण

इसके औषधिय गुणों की चर्चा करते हुए आयुर्वेदाचार्य पं रामशरण चतुर्वेदी कहते हैं कि वजन कम करने से लेकर त्वचा को कोमल और नाजुक बनाने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा पेट संबंधी कई रोगों को यह दूर करता है। कोलेस्ट्राल को भी एक हद तक कम करने में यह उपयोगी है।

  1. मेथी में फाइबर अच्छी मात्रा में होता है, जो वजन कम करने में एक अहम भूमिका निभाता है।
  2. मेथी के दानों में एंटीआक्सिडेंट होते हैं, जो स्किन को स्वस्थ रखने में कारगर हैं। ये त्वचा को जल्दी हील करते हैं। इसके अलावा, बहुत से कास्मेटिक्स में भी इनका इस्तेमाल किया जाता है। मेथी में मौजूद प्रोटीन बालों का झड़ना कम करता है।
  3. मेथी का पानी पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है। यदि आपको पेट संबंधी कोई भी बीमारी है, तो मेथी का पानी जरूर पिएं।
  4. मेथी दाने का पानी दिल में आक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है। साथ ही, ये कोलेस्ट्राल को कंट्रोल में रखता है।
  5. डायबिटीज को कंट्रोल करने में कारगर: मेथी के दाने पौराणिक समय से ही डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए इस्तेमाल किए जाते रहे हैं। मेथी के पानी का रोजाना सेवन करने से डायबिटीज कंट्रोल में रहती है। फिर भी, रूटीन अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Mritunjay