जागरण संवाददाता, धनबाद: अगर आप रेल यात्रा पर हैं और आपके साथ महिला हैं तो जहां तक हो सके, उन्हें सोने से परहेज करने की सलाह दें। सोने का मतलब चैन की नींद लेना नहीं, बल्कि सोने के गहनों से है। सोने के गहनों की शौकीन महिलाएं अपराधियों का सॉफ्ट टारगेट बन रही हैं। हजारों-लाखों के गहने लुट जा रहे हैं। साथ ही कान और गला भी लहूलुहान हो रहा है।

ताजा मामला धनबाद रेलवे स्टेशन का है जहां महिला के गले से सोने का चेन झपटने वाला खिसक गया पर उसके सहयोगी को यात्रियों ने दबोच कर आरपीएफ के हवाले कर दिया। पकड़ा गया अपराधी बंगाल के 24 परगना जिले का है। उसने अपना अपराध कबूलने के साथ ही अपने साथी का नाम और बंगाल में चोरी का हार खरीदने वाले कारोबारी की पहचान भी बता दिया है।

ट्रेनों में और प्‍लेटफॉर्म पर होने वाली भीड़ का फायदा उठाते हैं स्‍नेचर

दोपहर में आसनसोल से गया जानेवाली मेमू में यात्रियों की भीड़ उमड़ती है। ट्रेन पर सवार होने को लेकर होनेवाली धक्का-मुक्की का फायदा चेन स्‍नेचर उठाते हैं। बुधवार को भी ऐसा ही हुआ। महिला के गले से सोने का चेन झपट लिया गया। यात्रियों की नजर पड़ते ही उसे खदेड़ कर पकड़ लिया गया। ट्रेन खुल चुकी थी जिस कारण पकड़े गए चेन स्नेचर को गोमो आरपीएफ के हवाले किया गया। बाद में गोमो में रहने वाले यात्री राम प्रसाद राम ने मामले की शिकायत दर्ज कराई। धनबाद में हुई शिकायत के आधार पर पकड़ गए स्‍नेचर को गोमो से यहां लाया गया। उसने अपना नाम रिजोल सरदार बताया जो बंगाल के 24 परगना के कैनिंग का रहने वाला है।

उसने बताया कि चेन झपटने वाला उसका साथी प्रलय हलदर है। उसी ने महिला का चेन झपट कर उसे दिया था। चलती ट्रेन में ही वह चेन लेकर भागने लगा था तभी यात्रियों ने पकड़ लिया। प्रलय भी 24 परगना के कैनिंग का निवासी है। महिला यात्रियों से उड़ाई गई चेन का खरीदार बंगाल के 24 परगना के बारुईपुर का शेख समीर है। पुरानी तस्वीर के जरिए शेख समीर की पहचान भी कराई है। आरपीएफ इंस्पेक्टर पंकज कुमार ने बताया कि एएसआइ पालिक मिंज, सोनू कुमार पांडेय और परविंद कुमार की सक्रिय भागीदारी रही। मामले को जीआरपी को सौंप दिया गया है। बरामद सोने की चेन की कीमत 70 हजार रुपये है।

पहले भी पकड़े जा चुके स्‍नेचर, टूथपेस्ट में छिपा रखा था सोने का हार

इससे पहले भी बंगाल के चेन स्‍नेचर गिरोह के कई सदस्य धनबाद के रांगाटांड़ में एक होटल से पकड़े जा चुके हैं। धनबाद, गोमो और कोडरमा रेल पुलिस व आरपीएफ की संयुक्त छापेमारी में बड़ी कार्रवाई हो चुकी है। पकड़े गए चेन स्नेचरों ने टूथपेस्ट के ट्यूब में सोने का हार छिपा रखा था। इस बार भी पकड़े गए अपराधी की निशानदेही पर चोरी का सोना खरीदने वाले बंगाल के कारोबारी पर गाज गिर सकती है।

Edited By: Deepak Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट