निरसा : एनएचएआइ विभाग ने पुन: एनएच टू पर सिक्सलेन निर्माण कार्य में तेजी लाने की कवायद शुरू कर दी है। मंगलवार को एनएचएआइ अधिकारियों ने शासनबेड़िया मोड़ के पास एनएच टू के किनारे अवस्थित घरों एवं दुकानों को तोड़ने का काम शुरू किया। हालांकि कई घरवालों ने मुआवजे का भुगतान नहीं होने के कारण अपने घर एवं दुकान को तोड़ने का विरोध किया। विरोध कर रहे लोगों के घरों को छोड़कर मुआवजे का भुगतान हो चुके घरों को अधिकारियों ने जेसीबी मशीन से ध्वस्त करा दिया।

जानकारी के अनुसार एनएचएआइ विभाग के अधिकारी एसके आलम के नेतृत्व में अधिकारी पुलिस बल के साथ जेसीबी मशीन लेकर शासनबेड़िया मोड़ पहुंचे। उन्होंने सड़क के किनारे अवस्थित दुकानों एवं घरों को तोड़ने का काम शुरू किया। इसी दौरान शासनबेड़िया मोड़ निवासी धनंजय माजी, गोपाल माजी, नेपाल माजी, महादेव माजी, विकास माजी, अरूप माजी, पीएन पाल आदि पहुंचे तथा उन्होंने कहा कि एनएचएआइ द्वारा अभी तक जमीन के मुआवजे का भुगतान नहीं होने की बात बताते हुए कहा कि जब तक हमारी जमीन के मुआवजे का भुगतान नहीं हो जाता तब तक हम लोग अपने घरों तथा दुकानों को तोड़ने नहीं देंगे। अगर एनएचएआइ के अधिकारियों को जेसीबी चलाना है तो पहले हमलोगों के ऊपर से जेसीबी चलाना होगा। अधिकारियों ने उन लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे लोग कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे। अधिकारियों ने उन लोगों के घरों व दुकानों को छोड़ कर मुआवजा प्राप्त कर चुके लोगों के घर व दुकानों को जेसीबी मशीन का ध्वस्त कर दिया। हालांकि इस संबंध में एनएचएआई के अधिकारी कुछ भी बताने से परहेज किया।

Edited By: Jagran